युवा संसद का आयोजन , विभिन्न योजनाओं पर हुई चर्चा

 | 
 युवा संसद का आयोजन , विभिन्न योजनाओं पर हुई चर्चा
अवधनामा संवाददाता 
 
प्रयागराज:
युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार नेहरू युवा केंद्र प्रयागराज द्वारा सोमवार  को मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान प्रयागराज के मल्टीपरपज हॉल में जिला स्तरीय पड़ोस युवा संसद कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम में प्रयागराज के 15 से 29 वर्ष के ऐसे युवा जिन्हे देश के विकास तथा समाज में होने वाले समकालीन विषयों में रुचि है उन्होंने इस कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। नेहरू युवा केंद्र प्रयागराज की जिला युवा अधिकारी जागृति पांडेय ने अतिथियों तथा प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए कार्यक्रम का निर्देशन किया। मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी  शिपू गिरी  दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ  किया । मुख्य विकास अधिकारी ने युवा संसद के प्रतिभागियों का उत्साह वर्धन किया।
कार्यक्रम को आयोजित करने में जिला प्रशासन तथा अन्य विभाग अहम भूमिका में रहे। कार्यक्रम के 3 मुख्य हिस्से थे।कार्यक्रम के पहले भाग में माननीय प्रधानमंत्री जी की फ्लैगशिप योजनाओं तथा अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों से संबंधित भाषणों, संबोधनाें तथा नेहरू युवा केंद्र द्वारा चलाए जा रहे जागरूकता अभियानों की झलकियों को एल ई डी के माध्यम से प्रतिभागियों को दिखाया गया।
कार्यक्रम के दूसरे भाग में लीडरशिप हेतु गतिविधियां आयोजित की गई जिसमें प्रयागराज के विभिन्न विकासखंडों के जागरूक युवाओं ने "बालिकाओं के विवाह की न्यूनतम आयु 18 वर्ष से 21 वर्ष किए जाने से समाज में समानता कैसे स्थापित हो सकेगी" पर अपना विचार व सुझाव व्यक्त किए। इस गतिविधि में निर्णायक मंडल के संयुक्त निर्णय से प्रथम , द्वितीय व तृतीय क्रमशः बहरिया से महिला मंडल सदस्य स्मिता कुशवाहा, जसरा से तनु केशरी तथा चाका से निर्मल कांत पांडेय रहे। जबकि करें से प्रशांत त्रिपाठी और शहर से प्रगति मिश्रा ने सांत्वना पुरस्कार प्राप्त किए।
इसके अतिरिक्त युवा संसद के उपस्थित युवा सांसदों ने  कुल चार विषय 1. कौशल, श्रमिक कल्याण एवं आत्मनिर्भर भारत 2. महिला, बाल, वृद्ध एवं अल्पसंख्यक  3. भारतीय कृषि  4. शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पर पक्ष तथा विपक्ष की तर्ज पर बढ़ चढ़ कर पूरे मनोयोग से हिस्सा लिया तथा सुझाव भी दिए।
तीसरे भाग  में "ज्ञान प्रसार" हेतु सरकारी विभागों के योजनाओं संबंधित स्टॉल लगाए गए।
जिले के अखिलेश यादव, डिप्टी कलेक्टर, जिला विकास अधिकारी, राकेश कुमार, सहायक उप नियंत्रक, सिविल डिफेंस,  कमलेश दुबे सेवानिवृत्त उपनिदेशक नेहरू युवा केंद्र संगठन, एएसओसी, भारत स्काउट गाइड, संजय कुमार, सहायक निदेशक, एम एस एम ई, यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डॉ अशोक पांडे, डॉ रमा सिंह, डॉ राजेंद्र तिवारी तथा नेहरू युवा केंद्र के सेवा निवृत्त उप निदेशक,  कमलेश दुबे इस मौके पर मौजूद रहे ।
कार्यक्रम संचालन नेहरू युवा केंद्र के अनुभवी राज्य प्रशिक्षक  चंद्रमणि मिश्र ने किया। नमामि गंगे परियोजना अधिकारी ऐसा सिंह ने परियोजना संबंधित कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी तथा वीडियो के माध्यम से अबतक के किए गए कार्यक्रमों की झलकियां प्रतिभागियों को दिखाई। केंद्र के स्वयं सेवकों तथा पंचायती राज के कर्मचारियों ने कार्यक्रम आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
स्वयं सेवकों हिमांशु, अंजू, कुलदीप, आरती, मनीष, अमन, सौरभ आदि ने प्रमुख योगदान दिया।