नरेंद्र गिरि की मौत मामले में योगी सरकार ने किया एसआईटी का गठन

 | 
नरेंद्र गिरि की मौत मामले में योगी सरकार ने किया एसआईटी का गठन

अवधनामा संवाददाता


प्रयागराज। महंत नरेंद्र गिरि की मौत की खबर से देश सन्न है. मौत की मिस्ट्री पर अलग-अलग तरह की थ्योरी है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है और ताजा स्थिति ये है कि महंत नरेंद्र गिरि का पार्थिव शरीर प्रयागराज के बाघंबरी मठ में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है. अब आम लोग भी महंत के दर्शन कर पा रहे हैं.

महंत नरेंद्र गिरी के मौत मामले में एसआईटी का गठन
इसी बीच एक बड़ी खबर आई है कि यूपी सरकार द्वारा महंत नरेंद्र गिरि के मौत मामले में एसआईटी का गठन किया गया है. महंत नरेंद्र गिरि केस की जांच के लिए डीआईजी प्रयागराज ने एसआईटी बनाई है. डिप्टी एसपी  की अगुवाई में यह एसआईटी बनी. बता दें कि नरेंद्र गिरि का समाधि संस्कार परसो यानी गुरुवार को होगा. कल संत समाज और अखाड़ा परिषद की बैठक होगी. बैठक कल सुबह 10 होगी.

इससे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ कहा कि इस घटना का पर्दाफाश किया जाएगा. उन्होंने कहा कि पुलिस ने कई सबूत इकट्ठा किए हैं. पुलिस की एक टीम, एडीजी जोन, आईजी रेंज और डीआईजी प्रयागराज, मंडल आयुक्त प्रयागराज एक साथ मिलकर इसकी जांच में लगे हैं. एक-एक घटना का पर्दाफाश होगा. दोषी को सजा जरूर मिलेगी. सीएम ने आगे कहा कि इस घटना में संवेदनशील प्रकरण में अनावश्यक बयानबाजी से बचें. जांच एजेंसियों को निष्पक्ष जांच करने दें. जो भी जिम्मेदार होगा उसको कानून के दायरे में लाकर कड़ी सजा दिलाई जाएगी.

महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी
महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी. उनका शव अल्लापुर स्थित बाघंबरी मठ स्थित उनके आवास में पंखे पर लटका मिला था. मठ को सील कर दिया गया है. पुलिस ने वहां से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है.