युग-युगांतर तक प्रेरणा स्रोत रहेंगे, पंडित नेहरू: चौ. मुजफ्फर

 | 
युग-युगांतर तक प्रेरणा स्रोत रहेंगे, पंडित नेहरू: चौ. मुजफ्फर

अवधनामा संवाददाता

सहारनपुर। कांग्रेस जिला अध्यक्ष चौधरी मुजफ्फर अली की अध्यक्षता में आज देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की 132वी जयंती पर एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें जिला अध्यक्ष चौधरी मुजफ्फर अली, महानगर अध्यक्ष वरुण शर्मा, विधायक मसूद अख्तर, विधायक नरेश सैनी, पूर्व विधायक सुरेंद्र कपिल के साथ कांग्रेस पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं ने पंडित जवाहरलाल नेहरू के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया।

इस अवसर पर आयोजित गोष्ठी को संबोधित करते हुए कांग्रेस जिलाध्यक्ष चौधरी मुजफ्फर अली व महानगर अध्यक्ष वरुण शर्मा ने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू, युग-युगांतर तक देश के लिए समर्पित भाव से कार्य करने वालों के लिए प्रेरणा स्रोत बने रहेंगे। चौधरी मुजफ्फरनगर  ने कहा कि पंडित नेहरू ने देश को विकास के मार्ग पर ले जाने के लिए आजादी के बाद जो विकास का ब्लू प्रिंट तैयार किया था, उसी को आधार मानते हुए उनके बाद की सभी सरकारों ने कार्य किया, जिसके चलते आज हमारा देश सभी क्षेत्रों में आत्मनिर्भर होने के साथ-साथ विश्व के अग्रणी देशों में गिना जाता है। चौधरी मुजफ्फर ने कहा कि नेहरू जी ने स्वतंत्रता की लड़ाई में जो बलिदान और कुर्बानियां दी उसको कभी भुलाया नहीं जा सकता, लेकिन दुख इस बात का है कि आज देश में आजादी के लिए बलिदान करने वाले देशभक्तों को अपमानित करने वाले लोगों को  सरकार द्वारा सम्मानित किया जाता है।  महानगर अध्यक्ष वरुण शर्मा ने पंडित नेहरू द्वारा किए गए विकास कार्यों को याद किया।

कांग्रेस विधायक मसूद अख्तर व नरेश सैनी ने पंडित जवाहरलाल नेहरू को युग पुरुष बताते हुए कहा कि पंडित जी ने जिस समृद्ध और शक्तिशाली भारत का स्वप्न देखा था, उसे साकार करने के लिए अभी हमें और अधिक संघर्ष व परिश्रम करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमें देश की एकता और अखंडता को मजबूत बनाने के लिए सांप्रदायिक शक्तियों को ना काम करना होगा तभी देश पुनः विकास के मार्ग पर अग्रसर होगा।

पूर्व विधायक सुरेंद्र कपिल ने अपने संबोधन में पंडित नेहरू को एक ऐसा नेता बताया, जो कभी सदियों के बाद जन्म लेता है। पूर्व विधायक ने कहा कि पंडित नेहरू ने  आजादी के संघर्ष के दौरान सबसे ज्यादा दिन अंग्रेजों की जेलों में बिताएं, लेकिन इससे वह घबराए नहीं। उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू ने पहले देश की आजादी के लिए और फिर देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए संघर्ष किया। उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू ने जब देश के पहले मंत्रिमंडल का गठन किया तो उन्होंने अपने वैचारिक विरोधी  डॉक्टर भीमराव अंबेडकर और  श्यामा प्रसाद मुखर्जी सरीखे बुद्धिमान लोगों को भी मंत्रिमंडल में जगह दी, ताकि भारत के विकास में सभी का योगदान सुनिश्चित किया जा सके। गोष्ठी को संबोधित करने वालों मेंएआईसीसी सदस्य अशोक सैनी, जिला प्रवक्ता गणेश दत्त शर्मा, जिला कोषाध्यक्ष हरिओम मिश्रा, पार्षद चंद्रजीत सिंह निक्कू, जिला महासचिव जितीन सैनी, सेवादल जिला अध्यक्ष इमरान कुरेशी, सेवा दल महानगर अध्यक्ष अमरदीप जैन  आदि ने संबोधित किया जबकि कार्यक्रम में महानगर जिला सचिव अक्षय कुमार, गुलफाम अंसारी, सचिन वर्मा, धर्मपाल जोशी, नीरज कपिल, नसीब खान, गुलशेर अहमद, साजिद अली, जमाल अहमद, सतपाल बर्मन, अनुज शर्मा, ज्ञानेश, घनश्याम, चंद्रशेखर, अमन चौधरी, जितेंद्र सैनी, सौरभ भारद्वाज, संदीप शर्मा, एस के अधिकारी आदि भी शामिल हुए।