कोहरौल मे गावर कंपनी पर जल निकासी व कोहरौलिया में नाली निर्माण को लेकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया

 | 
कोहरौल मे गावर कंपनी पर जल निकासी व कोहरौलिया में नाली निर्माण को लेकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया

अवधनामा संवाददाता

सोनभद्र/ बीना। बीना क्षेत्र के कोहरौल गांव के समीप सडक निर्माण व नाली निर्माण कार्य करा रही गावर कंपनी पर ग्रामीणो ने मनमाने तरीके से कार्य कराने का आरोप लगाया की गांव के समीप कंपनी के कार्य करने की गलत नीतियों के कारण सडक पर काफी समय से जलजमाव हो रहा है जिस कारण ग्रामीणों को अपने घरो के साथ आस पास प्रवेश करने के लिए पानी से होकर जाना पडता है साथ ही बरसात में पानी घरो मे प्रवेश कर जाता है जिसके बारे मे पत्र के माध्यम से उच्चाधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी त्वरित कार्यवाही न होने से सोमवार को दर्जनभर महिला पुरुषों ने प्रदर्शन कर नाराजगी जताकर समस्या के समाधान की मांग की। वहीं दुसरा मामला कोहरौलिया ग्राम का है जहां सडक पर बरसाती पानी के साथ घरों से निकले वाला पानी बहने से आने जाने मे मुसीबतों का सामना करना पडता है यहां पर मार्ग में नाली का निर्माण न होने से बरसाती पानी के साथ ग्रामीणों के घरो से निकलने वाला पानी लबे सडक बहने से ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड रहा है। ग्रामीण विजय भारती के अनुसार कोहरौल व कोहरौलिया ग्राम मे जल निकासी की समस्या को लेकर उच्चाधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी कई माह बीतने पर भी समस्या का समाधान नही हो सका जबकि जिम्मेदार मामले का समाधान करने की बजाय लीपापोती करने में लगे हुए है जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड रहा है। पिछले वर्ष जिला पंचायत राज अधिकारी ने मामले का समाधान करने के लिए जिम्मेदारो को निर्देशित किया पर उस दौरान ग्राम पंचायत सचिव ने लीपापोती कर मामले का निपटारा ऑनलाइन पोर्टल पर कर दिया और नाली निर्माण को ग्राम पंचायत की बजाय सीएसआर मद से कराने की बात कही जिस कारण मामला जस का तस बना हुआ है। आपको बता दे वर्तमान समय में कोहरौल गांव की सडक के समीप ही मुख्य मार्ग पर गावर कंपनी द्वारा नाली का निर्माण किया जा रहा है जिसकी वजह से गांव मे नाली जाम होने के कारण पानी भी नहीं निकल पा रहा बरसात के दौरान सडक किचड से सन जाती है कंपनी के अधिकारियों से शिकायत के बाद भी मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया वर्तमान प्रधान भी मामले को गंभीरता से नहीं ले रहे वह कृष्णशिला परियोजना में ओबी का कार्य कराने आई कंपनी में कोटा सेट कराने मे लगे हुए है जबकि कंपनी में कथित लगभग आधे मूल प्रभावित लोग रोजगार से वंचित होने की कगार पर आ गये है जिस वजह से नाराज ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर जिलाधिकारी का इस ओर ध्यान आकृष्ट कराया है और जल निकासी की मांग की है जिससे आवागमन सुचारू रुप से हो सके। मामले को लेकर जब ग्राम प्रधानप्रतिनिधि चंदन कुमार से जानकारी लेने के लिए फोन किया गया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया जिस वजह से उनका पक्ष नहीं जाना जा सका।