दो द्विवसीय क्रमिक उपवास अनशन सत्याग्रह

 | 
दो द्विवसीय क्रमिक उपवास अनशन सत्याग्रह

अवधनामा संवाददाता 

    

  21.09.2021 को प्रातः 10ः00 बजे से प्रदेश भर के सभी क्षेत्रीय मुख्यालयों एवं विद्युत उत्पादन की परियोजनाओं पर समस्त अवर अभियन्ता/प्रोन्नत अभियन्ताओं द्वारा (पाली कार्य को छोडकर) आन्दोलन के चौथे चरण का दो द्विवसीय क्रमिक उपवास अनशन सत्याग्रह पूरे जोश के साथ प्रारम्भ हुआ।  

 48 घण्टे के लिए सरकारी सीयूजी सिम, विडियो क्रान्फ्रेसिंग, एवं विभागीय व्हाटसप ग्रुपों से संगठन के सदस्य हुए बाहर।
     अवर अभियंताओं/प्रोन्न्त अभियंताओं के ज्वलन्त मांगो/समस्याओं का निराकरण न होने के दृष्टिगत  राविप जूनियर इंजीनियर्स संगठन उप्र विवश होकर ध्यानाकर्षण आंदोलन तीव्रता की ओर अग्रसर। 
     लखनऊ कमिश्नरी के समस्त इकाईयों का यह कार्यक्रम राजधानी मुख्यालय जनपद लखनऊ मे कार्यालय प्रबन्ध निदेशक (मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लि) 4ए -गोखले मार्ग पर।

               
  लखनऊ । रा0वि0प0जू0इं0 संगठन, उ0प्र0 के समस्त सदस्यों/पदाधिकारियों द्वारा अपनी न्यायोचित मांगों, विभागीय कार्यदायित्व निर्वहन एवं बेहतर उपभोक्ता सेवा हेतु न्यूनतम आवयश्क संसाधन तथा संवर्ग के साथ हो रहे उत्पीडनात्मक कार्यवाहियों के विरोध में पूर्व घोषित ध्यानाकर्षण आन्दोलन के चौथे चरण में प्रदेश के समस्त क्षेत्रीय मुख्यालयों एवं विद्युत उत्पादन परियोजनाओं पर समस्त अवर अभियन्ताओं/प्रोन्नत अभियन्ताओं द्वारा विद्युत आपूर्ति में व्यवधान से बचाए रखने के लिए (पाली में कार्यरत सदस्यों को छोडकर) आन्दोलन का दो द्विवसीय क्रमिक उपवास अनशन सत्याग्रह दिनांक 21.09.2021 को प्रातः 10ः00 बजे से प्रारम्भ हुआ। इस क्रम में *कमिश्नरी लखनऊ में यह कार्यक्रम मध्यांचल मुख्यालय गोखले मार्ग लखनऊ पर लेसा ट्रांस, लेसा सिस, लखनऊ क्षेत्र (जनपद-रायबरेली, उन्नाव, हरदोई सितापुर, लखीमपुर), शक्ति भवन एवं क्षेत्रीय शाखा पारेषण मध्य के सदस्यों द्वारा सिंस गोमती के क्षेत्रीय अध्यक्ष इं0 विवेक तिवारी की अध्यक्षता में संगठन के केन्द्रीय संरक्षक इं0 सतनाम सिंह एवं इं0 एस0 बी0 सिंह द्वारा केन्द्रीय महासचिव इं0 जय प्रकाश एवं सदस्यों को माला पहनाकर सामूहिक क्रमिक उपवास सत्याग्रह प्रारम्भ कराया। इस दो द्विवसीय क्रमिक उपवास सभा को संबोधित करते हुए संगठन के केंद्रीय अध्यक्ष इं0 जी0वी0 पटेल ने अपने सम्बोधन में कहा कि संगठन के समस्त सदस्य अपनी महत्वपूर्ण न्यायोचित मांगों पर विगत दो सप्ताह से शान्ति पूर्ण तरीके से अपना ध्यानकर्षण आन्दोलन कर रहे है इस क्रम में आज प्रदेश के समस्त क्षेत्रों /परियोजनाओं पर समस्त पदाधिकारियो/सदस्यो द्वारा पूरे जोश एवं उत्साह से क्रमिक उपवास सत्याग्रह कर रहे है। ऊर्जा का शीर्ष प्रबंधन संवर्ग की न्यायोचित मांगो पर अन्याय पूर्ण एवं उपेक्षापूर्ण रवैया एवं सदस्यों का उत्पीड़न किये हुए है उन्होने शीर्ष ऊर्जा प्रबन्धन को आगह किया कि अगर अब भी संवर्ग की न्यायोचित मांगों का समाधान न किया गया तो किसी भी स्तर तक के (जेल भरो/कार्यबहिष्कार) तक जाने के लिए विवश होगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी शीर्ष ऊर्जा प्रबन्धन की होगी। उन्होने ने प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री मा0 योगी आदिन्यनाथ  जी एवं ऊर्जा मंत्री उ0प्र0, सरकार मा0 पं0 श्रीकान्त शर्मा जी से अनुरोध किया कि वो शीर्ष ऊर्जा प्रबन्धन को निर्देशित करें कि संगठन की न्यायोचित मांगों का निस्तारण कर ऊर्जा क्षेत्र में उत्पन्न इस गतिरोध को समाप्त करकार औद्योगिक शान्ति एवं कार्य का बेहतर वातावरण बन सकें।
    सभा को संबोधित करते हुए संगठन के केन्द्रीय संरक्षक इं0 सतनाम सिंह ने कहा कि ऊर्जा प्रबन्धन द्वारा समय से विद्युत लाइनों एवं तंत्र का प्रिवेन्टीव मेंन्टनेन्स, भण्डार गृहो में मेन्टनेन्स के सामानों की घोर कमी है। पिछले 04 वर्षो में वितरण नेटवर्क लगभग दोगुना हो गया है लेकिन मैन पावर को नियोजित नही किया गया है जिससे इस संवर्ग को बेहतर उपभोक्ता सेवा देने में अत्यन्त कठिनाई हो रही है और मजबूर हो कर आन्दोलन जैसा अप्रीय निर्णय करना पडा है। 
    संगठन के केन्द्रीय संरक्षक इं0 एसबी सिंह ने कहा कि संवर्ग की न्यायेचित वेतन विसंगति की मांग लम्बे समय से लम्बित है जिसपर शीर्ष ऊर्जा प्रबन्धन टाल-मटोल का रवैया अपनाये हुए है जिससे विवश होकर संगठन के सदस्य आन्दोलन कर रहे है। और उन्हे विजय श्री अवश्य प्राप्त होगी। 
        दो द्विवसीय क्रमिक उपवास सभा को संबोधित करते हुए संगठन के केंद्रीय महासचिव इं0 जय प्रकाश ने कहा कि संगठन के साथ प्रबंधन द्वारा पूर्व मे बनी सहमतियो के अनुसार आदेश जारी नही किये जा रहे, और आन्दोलन शीर्ष ऊर्जा प्रबन्धन के संवेदनहीन गैर जिम्मेदाराना रवैये के कारण चौथे चरण में आ चुका है एवं सदस्यों द्वारा संसाधनों के अभाव में आज से 48 घण्टे तक सरकारी सीयूजी सिम, विडियो क्रान्फ्रेसिंग, एवं विभागीय व्हाटसप ग्रुपों से संगठन के सदस्य बाहर हो गए है एवं विभागीय कार्यों के सम्पादन हेतु विभाग द्वारा कम्प्यूटर/लैपटाप/डाटा/आपरेटर एवं अन्य आवश्यक संसाधन उपलब्ध न कराये जाने की दशा में झटपट/इ0आर0पी0 पोर्टल पर किय जाने वाले कार्यो से भी आन्दोलन के दौरान विरत रहेगें।

    राजधानी मुख्यालय कमिश्नरी लखनऊ पर उपरोक्त क्रमिक उपवास अनशन सत्याग्रह कार्यालय प्रबन्ध निदेशक मध्यांचल वि0वि0नि0लि0 गोखले मार्ग पर प्रमुख रूप से सतनाम सिंह, एस0 बी0 सिंह, एस0 पी0 सिंह, सी0पी0 त्रिपाठी, वाई0 एन0 सिंह,कप्तान सिंह, राम इक़बाल,शैलेन्द्र कुमार, पंकज कुशवाहा, अनिल पाठक, अनिल वर्मा, पी0के0 सिंह, के0एन0 शुक्ला, मोहित राव, एम0ए0 आलम, एस0पी0 वर्मा, अनुराग सक्सेना, के0सी0 वर्मा, रत्नद्वीप मौर्या, संजीव वर्मा, डी0के0 प्रजापति, चन्द्र शेखर, अजय यादव, एस0एन0 पटेल, जगदीश भारती, बृजेश कुमार, कैलाश सिंह यादव, वी0 के0 सिंह, ए0 के0 सिंह, संदीप सिंह एवं भारी संख्या में लेसा सिस/ट्रांस गोमती, लखनऊ क्षेत्र, क्षेत्रीय शाखा पारेषण मध्य, शक्ति भवन इकाई के अवर अभियन्ता/प्रोन्नत अभियन्ता सदस्य उपस्थित रहे। उपरोक्त जानकारी अरविंद कुमार झा, केन्द्रीय प्रचार सचिव, राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन (उ0प्र0) ने दी।