तमकुहीराज चौकी पुलिस के खिलाफ फूटा व्यपारियों का आक्रोश

 एसएचओ तरयासुजान ने व्यपारियों को समझा कराया शान्त

 | 
तमकुहीराज चौकी पुलिस के खिलाफ फूटा व्यपारियों का आक्रोश
अवधनामा संवाददाता 

कुशीनगर। परिवारिक विवाद में एक प्रमुख व्यवसायी को अपशब्द कहते हुए चौकी के अंदर बैठाने और असलहे के साथ जेल भेजे जाने की खबर मिलते ही कस्बे के सौकड़ो व्यपारी पुलिस चौकी पहुँच पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। सूचना पर पहुँचे एसएचओ तरयासुजान ने सभी को समझाकर शान्त कराया।

सनद हो कि तमकुहीराज पुलिस चौकी के बगल के प्रमुख व्यवसायी संतोष गुप्ता को तमकुहीराज चौकी प्रभारी परिवारिक विवाद को लेकर पुलिस चौकी बुला पहले जमकर गालियां दी, फिर चौकी के अंदर बैठाते हुए असलहे के साथ जेल भेजनी की धमकी देने लगे। यह बात जैसे ही बाजार तक पहुँची सैकड़ो व्यवसायियों का हुजूम पुलिस चौकी तमकुहीराज पहुँच गया। व्यपारी तमकुहीराज पुलिस चौकी के पुलिस कर्मियों के खिलाफ आक्रोश व्यक्त करते हुए पुलिस द्वारा अवैध वसूली की कई दस्तान सुनाने लगे, जिसे सुन सभी ढंग रह गये। इसी बीच अपने आवास गये चौकी प्रभारी भी पुलिस चौकी पहुँचे, उनके पहुँचते ही व्यपारियों ने तमाम आरोपों की बौछार करते हुए उनके क्रिया कलाप की कहानी उन्ही को सुनाने लगें।

व्यपारियों एक पुलिस चौकी प्रभारी के बीच शुरू हुए विवाद की सूचना मिलते ही एसएचओ तरयासुजान कपिलदेव चौधरी तत्काल पुलिस चौकी तमकुहीराज पहुँचे। उन्होंने पहले व्यपारियों को शांत कराया, फिर उनकी बात सुनी और उन्हें सुरक्षा व न्याय का भरोसा दिलाते हुए छठ पर्व मनाने को अपने घरों को जाने और छठ बाद उक्त मामले का शांति पूर्वक समाधान कराने का भरोसा दिया। जिसके बाद व्यपारी शांति के साथ अपने व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को वापस आ गये। और पुलिस ने राहत महसूस किया।

पुलिस चौकी प्रभारी के क्रिया कलाप से दुःखी है जनता

तमकुहीराज पुलिस चौकी के प्रभारी राज कुमार बरवार के क्रिया कलाप से व्यपारी ही नही अपितु क्षेत्र की जनता भी काफी दुःखी है।व्यपारियों के साथ पुलिस चौकी पहुँची जनता ने भी चौकी प्रभारी पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि आपसी विवाद जिसे डॉट डपट कर समझाया जा सकता है, उस मामले में भी चौकी प्रभारी पचास हजार की घुस की मांग करते है। इस बात का दावा करने वाले व्यपारी अपने पास वीडियो होने का भी दावा कर रहे थे, लेकिन किसी ने दिखाया नहीं। दूसरी ओर आम आदमी चौकी प्रभारी पर आरोप लगाने से पीछे नही रहें।