आखिर कब तक बली का बकरा बनेगे ट्रक आपरेटर

मरौली खदानो मे पुलिसिया कार्यवाही मे 109 ट्रक सीज

 | 
आखिर कब तक बली का बकरा बनेगे ट्रक आपरेटर

अवधनामा संवाददाता

बाँदा  मीडिया मे छप रही खबरो पर प्रशासन ने जबरदस्त कार्यवाही करते हुये एक सैकडा से अधिक ट्रको को सीज करने की बडी कार्यवाही की है । ग्रामीणो के जबरदस्त विरोध के कारण मीडिया मे मरौली की मौरंग खदाने लगातार सुर्खियां बटोर रही थी जिस पर प्रदेश सरकार की भी नजर लगी थी परंतु लोकल प्रशासन द्वारा छोटी छोटी कार्यवाही करके मामले को लगातार टाला जा रहा था , परंतु जिलाधिकारी बाँदा अनुराग पटेल के संज्ञान मे मामला आते ही फौरन ही बडी कार्यवाही की गयी जिससे वाणिज्यकर विभाग खनिज विभाग एवं परिवहन विभाग को एक करोड बारह लाख रूपये राजस्व प्राप्त होने की सम्भावना है ।

पुलिस विभाग , राजस्व विभाग खनिज विभाग परिवहन विभाग , वाणिज्य कर विभाग सहित पुलिस एवं प्रशासन के आलाअधिकारियों के नेतृत्व मे यह कार्यवाही की गयी जिसमे 119 वाहनो को उपखनिज का अवैध परिवहन करते पकडा गया  , वहीं जनपद के समस्त पट्टा धारको / खदान संचालको स्पष्ट निर्देश दिये गये है कि ऐसी कार्यवाहियां जारी रहेगी  ।

वहीं ट्रक आपरेटरों मे इस कार्यवाही से भारी असंतोष है उन्होने बताया कि हर बार कार्यवाही सिर्फ ट्रक संचालको पर ही क्यो होती है क्या खदानों से हम स्वयं ही मौरंग भरते हैं , हमको खदानो से जब ओवरलोड मौरंग दी जाती है तभी हम अपने ट्रको पर लादते हैं , जबकि पूर्व के जिलाधिकारी ने भी आदेशित किया था कि बिना रायल्टी अथवा ओवरलोड मौरंग जिस खदान से दिया जायेगा उस पर राजस्व की क्षति की वसूली की जायेगी और आवश्यकता पडने पर पट्टा भी निरस्त किया जायेगा ।परंतु फिर भी किसी खदान पर कार्यवाही का ना होना आश्चर्य चकित करने वाला है जिसमे सिर्फ एक को कसूरवार ठहराया जाता है और दूसरे को क्षमादान दिया जाता है ।