मण्डी शुल्क वापस लेने की मांग को लेकर व्यापारियों ने फूंका पुतला

 | 
मण्डी शुल्क वापस लेने की मांग को लेकर व्यापारियों ने फूंका पुतला

अवधनामा संवाददाता 

सहारनपुर। उद्योग व्यापार मंडल से जुड़े व्यापारियों ने मण्डी शुल्क को अविलम्ब वापस लिए जाने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन कर पुतला फूंका तथा मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित ज्ञापन भेजकर मंडी शुल्क अविलम्ब वापस लिए जाने की मांग की।
प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए व्यापार मण्डल के महानगर अध्यक्ष विवेक मनोचा व महानगर महामंत्री सुरेन्द्र मोहन सिंह चावला ने कहा कि उ.प्र. उद्योग व्यापार मण्डल काफी लम्बे अरसे से प्रदेश में मण्डी शुल्क की समाप्ति के लिए आंदोलन कर रहा था। उन्होंने कहा कि पांच जून 20202 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की मंडियों का लाइसेंस 9-आर. 6-आर व गेटपास व अन्य प्रावधानों को पूर्णतः समाप्त कर दिया था जिसके चलते व्यापारियों ने राहत की सांस ली थी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कृषि कानूनों को वापस लेने के बाद प्रदेश में मण्डी शुल्क की पुरानी व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू कर दी है जिससे उद्योग जगत एवं व्यापारी समाज में रोष व्याप्त है। यशपाल मैनी व अखिलेश गुप्ता ने कहा कि देश कई राज्यों में मण्डी शुल्क नहीं है तथा कई राज्यों में उद्योगों में छूट है जब प्रदेश में मण्डी शुल्क नहंी था तो अनेक उद्यमियों ने यहां पर अपना उद्योग भी स्थापित किया जो अब अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मण्डी अधिनियम में साफ लिखा है कि जो जिस प्रदेश में उत्पाद होगा, उस पर वहां मण्डी शुल्क लगेगा परन्तु अब देश व प्रदेश के बाहर से आने वाली जिंसों पर भी शुल्क लग रहा है जैसे कि किराना (मेवा, सुपारी, काली मिर्च, मसाले) आदि वस्तुओं पर मण्डी शुल्क लग जायेगा जो कि असंवैधानिक है। प्रदर्शनकारियों को अनुज अग्रवाल, अशोक छाबडा, राजेन्द्र गुप्ता, सूरज ठक्कर, नरेन्द्र गर्ग, प्रदीप कोचर ने भी सम्बोधित किया। प्रदर्शनकारियों में महानगर अध्यक्ष विवेक मनोचा, महानगर महामंत्री सुरेन्द्र मोहन सिंह चावला के अलाववा पुनीत माहेश्वरी, आदित्यनाथ गोयल, नंद कोचर, राजेन्द्र तलवार,दीपक  मित्तल, पवन कालरा, साहिल तेहरी, प्रताप टक्कर, दर्शन टक्कर, अजय तेहरी, सुशील मैनी, गुलशन वाधवा, पंकज गुप्ता, ललित मित्तल, शरद बाजोरिया, अशोक खुराना, राज गंभीर शामिल रहे।