उद्योग बन्धुओं की समस्याओं का तत्काल निस्तारण किया जाए-डीएम

कलेक्ट्रेट सभागार में डीएम ने उद्योग, व्यापार एवं श्रमिक बंधुओं के साथ किया बैठक, सुनी समस्याएं

 | 
उद्योग बन्धुओं की समस्याओं का तत्काल निस्तारण किया जाए-डीएम

अवधनामा संवाददाता 

कुशीनगर। उद्योग, व्यापार एवं श्रमिक बंधुओं की बैठक गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता जिलाधिकारी  एस0 राजलिंगम ने की। बैठक में कई सारे मुद्दों पर चर्चा हुई जैसे भूमि पर अवैध अतिक्रमण हटाने का संदर्भ, रिक्त भूखंडों पर प्लॉट आवंटन के संबंध में आवेदन पत्रों का निस्तारण, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम वर्ष 2021-22, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना वर्ष 2021-22, एक जनपद एक उत्पाद ऋण योजना में आवेदन पत्रों के निस्तारण की स्थिति आदि।

जिलाधिकारी ने सभी लंबित पड़े आवेदनों के शीघ्र निस्तारण के निर्देश दिए तथा भूखंड जिनके आवंटन के 06 महीने से ज्यादा बीत जाने पर भी उस भूखंड का इस्तेमाल नहीं किया गया तो आवेदन निरस्त कर प्लाट का आवंटन अन्य आवेदक को दिए जाने की बात की। विभिन्न परियोजनाओं में कुल आवेदन पत्र की तुलना में स्वीकृत आवेदन पत्रों की कम संख्या पर जिलाधिकारी महोदय ने आपत्ति जताई तथा इस संदर्भ में उद्योग उपायुक्त को निर्देश दिए गए। उक्त बैठक में  उपस्थित उद्यमी बंधुओं से भी संवाद स्थापित किया गया उनकी समस्याएं जानी गई, एवं जिलाधिकारी ने उनकी समस्याओं के समाधान हेतु संबंधित को निर्देशित किया। इस अवसर पर सी ओ पडरौना संदीप वर्मा, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी एके पॉल, उद्योग उपायुक्त सतीश कुमार, एलडीएम सुनील त्यागी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी मनीष कुमार, उद्यमी संगठन के अध्यक्ष राम आशीष जायसवाल, ओडीओपी क्लस्टर उद्यमी रामाधार कुशवाहा एवं जिला सूचना अधिकारी कृष्ण कुमार उपस्थित थे।

वित्तीय वर्ष में 36063 निर्माण श्रमिक व 778930 असंगठित श्रमिकों का हुआ हुवा है पंजीयन

विदित है कि जनपद कुशीनगर में 2021-22 में कुल 36063 निर्माण श्रमिकों एवं 778930 असंगठित श्रमिकों का पंजीयन किया गया है। इस क्रम में श्रम कल्याण परिषद की कई सारी योजनाओं की भी चर्चा श्रम प्रवर्तन अधिकारी के द्वारा किया गया। श्रम कल्याण परिषद द्वारा संचालित इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदक को परिषद की साइट पर आवेदन करना होगा। डी एम ने ज्यादा से ज्यादा पात्र व पंजीकृत श्रमिकों को हितकारी योजना से लाभान्वित किये जाने के निर्देश दिए।