प्रभारी मंत्री ने की जनपद में चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा

 | 
प्रभारी मंत्री ने की जनपद में चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा

अवधनामा संवाददाता (अजय श्रीवास्तव)

ललितपुर। आज राज्य मंत्रीआवास एवं शहरी नियोजनउत्तर प्रदेश / प्रभारी मंत्री जनपद ललितपुर गिरीश चन्द्र यादव की अध्यक्षता में जनपद के विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में राज्यमंत्री श्रम एवं सेवायोजन विभाग उ0प्र0 मनोहर लाल पंथसदर विधायक रामरतन कुशवाहा,  जिला पंचायत अध्यक्ष कैलाश निरंजनजिलाध्यक्ष भाजपा श्री राजकुमार जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति रही। बैठक में प्रभारी मंत्री ने समस्त विभागों के विकास कार्यों की बिंदुवार समीक्षा की।

सर्वप्रथम बैठक में अधि0 अभियंता विद्युत, कार्यदायी संस्था सी0एल0टी0एस0 से सम्बंधित अधिकारी के अनुपस्थित रहने पर उनका स्पष्टीकरण तलब किया गया। एन्टी भू माफिया की समीक्षा के दौरान बताया गया कि अब तक 518 राजस्व वाद01 सिविल वाद तथा 72 एफ0आई0आर0 दर्ज करायी गई हैं। अवैध खनन मामालें की समीक्षा में बताया गया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में 14 मामलों में एफ0आई0आर0 दर्ज करायी गई है। इस पर मा0 प्रभारी मंत्री जी ने खनन अधिकारी को निर्देश दिये कि अवैध खनन के मामलों में प्राथमिकता के आधार पर कार्यवाही करें। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री आवासनिजी भूमि पर जल संरक्षण का कार्यकृषि कार्य के लिए समतलीकरण के कार्य पर अवैध खनन की कार्यवाही न की जाए। विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान लंबित भुगतान वाले सरकारी विभागों की सूची पढ़कर बताई गईजिस पर निर्देश दिये गए कि जिन विभागों के विद्युत बिल का भुगतान शेष हैंवे तत्काल भुगतान करायें। नई सड़कों के निर्माण एवं चैड़ीकरण की समीक्षा में अधि0 अभियंता लो0नि0वि0 के अनुपस्थित रहने पर स्पष्टीकरण तलब किया गया। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत कुल 242000 कृषकों के सापेक्ष 291017 कृषकों का डाटा पोर्टल पर फीड किया जा चुका है। इस पर निर्देश दिये गए कि शेष कृषकों का डाटा शीघ्र फीड कराया जाए तथा लंबित भुगतान को निस्तारित करायें। निराश्रित गौवंशों की समीक्षा में बताया गया कि जनपद में 16 स्थायी/अस्थायी आश्रय स्थल व 01 पंजीकृत गौशाला क्रियाशील हैजिनमें कुल 27385 गौवंश संरक्षित हैं। साथ ही गौवंश सहभागिता योजना के तहत 5138 लक्ष्य के सापेक्ष 5028 गौवंश सुपुर्द किये जा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए मा0 प्रभारी मंत्री जी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत कैम्प लगाकर पात्र लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनवाये जायें। मौके पर मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत पात्र लाभार्थियों के सम्बंध में गाइडलाइन की जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी को न होने पर प्रभारी मंत्री जी के द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई। उन्होंने निर्देश दिये कि एम्बुलेंस के रखरखाव एवं प्रबंधन में सभी संसाधनों को व्यवस्थित रखें। साथ ही नवजात बच्चों का नियमित रुप से टीकाकरण करायें। इसके उपरान्त पेयजल आपूर्ति की समीक्षा की गईजिसमें बताया गया कि जनपद में 1331 मरम्मत योग्य हैण्डपंपों में से 1243 की मरम्मत तथा 206 रीबोर योग्य में से 156 हैण्डपंप रीबोर करा लिये गए हैं। बैठक के दौरान मा0 प्रभारी मंत्री जी ने अधि0 अधिकारी नगर पालिका को निर्देशित किया कि नगरीय क्षेत्र में क्षतिग्रस्त सड़कों को ठीक करायेंसाथ ही स्वावलंबी एवं आत्मनिर्भर होकर कार्य करें। प्लास्टिक जब्तीकरण में की गई वसूली की रिपोर्ट उपलब्ध करायेंसाथ ही नगरीय क्षेत्र में सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान दें। आवास योजनाओं की समीक्षा के दौरान बताया गया कि प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत 19987 लाभार्थियों में से 16889 को प्रथम12119 को द्वितीय तथा 7781 लाभार्थियों को तृतीय किश्त अवमुक्त की जा चुकी है। 11040 आवास छत स्तर तक पूर्ण हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की समीक्षा में बताया गया कि 5574 लाभार्थियों में से 5216 को प्रथम1947 को द्वितीय तथा 29 लाभार्थियों को तृतीय किश्त अवमुक्त की जा चुकी है। 22 आवास पूर्ण हैं। मनरेगा योजना की समीक्षा में बताया गया कि माह के अंत तक 69870 परिवारों को योजना से आच्छादित किया गया है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत समूह गठन की समीक्षा में बताया गया कि माह में 696 लक्ष्य के सापेक्ष 752 स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया है। खाद्यान्न वितरण के सम्बंध में प्रभारी मंत्री जी ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि केवल पात्र व्यक्तियों को ही राशनकार्ड से जोड़ा जायेअपात्रों के नाम काटे जायें। पंचायती राज विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि 84 पंचायत भवनों में से 72 पूर्ण हैं। 402 सामुदायिक शौचालयों में से 376 पूर्ण हैं।

बैठक के अंत में प्रभारी मंत्री ने कहा कि निर्माण सम्बंधी सभी विभाग आचार संहित लागू होने से पूर्व सभी निर्माण कार्य पूर्ण कर लें। जल जीवन मिशन के तहत नवीन योजनाओं के साथ पेयजल मिशन की पुरानी योजनाओं पर भी प्रगति पूर्ण कार्य करें। सभी विभाग मा0 मुख्यमंत्री जी की मंशानुरुप युद्धस्तर पर अपने लक्ष्यों को पूर्ण करें।

लाभार्थियों को वितरण

बैठक के उपरान्त प्रभारी मंत्री ने विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को योजना से सम्बंधित सामग्री का वितरण किया। जिसमें एनआरएलएम के तहत 01 लाभार्थी को बिजली बिल संकलन मशीन02 बी0सी0 सखियों को पाश मशीनकृत्रिम अंग/सहायक उपकरण योजनान्तर्गत चयनित एवं कुष्ठ रोग से ग्रसित 08 दिव्यांजनों को सहायक उपकरण/एडीएल किटमुख्यमंत्री आवास योजनान्तर्गत 05 लाभार्थी08 कृषकों को कृषि यंत्र एवं उद्योग विभाग के ओर से 10 लाभार्थियों को टूलकिट का वितरण किया गया।

बैठक में जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमारपुलिस अधीक्षक निखिल पाठकअपर जिलाधिकारी वि0/रा0 अनिल कुमार मिश्रप्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी डी0एन0 सिंहजिला विकास अधिकारी के0एन0 पाण्डेयमुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ जी0पी0 शुक्लाउप जिलाधिकारी सदर डॉ संतोष कुमार उपाध्यायउपायुक्त मनरेगा रविन्द्रवीर यादवजिला समाज कल्याण अधिकारी अभिषेक अवस्थीजिला कार्यक्रम अधिकारी नीरज सिंहजिला सूचना अधिकारी पीयूष चन्द्र राय सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।