जयप्रभा नगर में मुख्य मार्गो ने लिया तालाब का रूप

क्षेत्रीय लोगों का जनजीवन प्रभावित, पार्षद के प्रति बना रोष

 | 
क्षेत्रीय लोगों का जनजीवन प्रभावित, पार्षद के प्रति बना रोष

अवधनामा संवाददाता 

सहारनपुर। पिछले कई दिनों से लगातार हो रही झमाझम बरसात के कारण नगर के कई स्थान जलभराव के संकट से जूझ रहे हैं। ऐसे में वार्ड 26 के जयप्रभा नगर की सड़कों ने तालाब का रूप ले लिया है, जिस कारण लोगों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्रीय लोगांे में समस्या का निराकरण न होने पर क्षेत्रीय पार्षद के प्रति जन आक्रोश भी बना है।

महानगर को स्मार्ट सिटी का दर्जा मिलने के बावजूद भी समस्याएं जस की तस बनी हुई है। नगर के बाहरी क्षेत्रों में सड़क नाली आदि की व्यवस्था ना होने कारण जलभराव का संकट गहराता जा रहा है। नगर निगम के अधिकारी नगर को स्मार्ट बनाने के दावे करते थक नहीं रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर ऐसी कॉलोनियां स्मार्ट सिटी के लिए सवालिया निशान का रूप ले रही हैं। पिछले कई दिनों से हो रही झमाझम बरसात के कारण वैसे नगर के अधिकांश कालोनियों में जलभराव की समस्या आम हो चली है, लेकिन वार्ड 26 जयप्रभा नगर की स्थिति दयनीय बनी हुई है, जिस कारण वहां रहने वाले लोगों को भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है और डेंगू मलेरिया जैसे चल रहे वायरल के संकट से भी लोग पूरी तरह भयभीत बने हैं, क्योंकि घरों के बाहर सड़कों ने तालाब का रूप ले लिया है और जल निकासी की व्यवस्था ना होने कारण मच्छर पनप रहे है,ं ऐसे में यदि इन क्षेत्रों में डेंगू मलेरिया का वायरल फैल गया, तो इसको संभाल पाना मुश्किल हो जाएगा। क्षेत्रवासियों का आरोप है कि भाजपा पार्षद कमल सिंह धीमान ने आज तक भी क्षेत्र के विकास के लिए कोई कार्य नहीं किया, जिसका खामियाजा वहां रहने वाले लोगों को भुगतना पड़ रहा है और लोगों को जलभराव की समस्या का सामना पड़ रहा है। क्षेत्रवासियों का आरोप है कि वह कभी भी क्षेत्र में आकर कोई सुध नहीं लेते हैं और जो कोई इनके पास शिकायत लेकर जाता है, उसका भी निस्तारण नहीं होता है। क्षेत्र में हल्की सी बरसात होते ही सड़कें तालाब का रूप ले लेती हैं, जिस कारण वहां से गुजरने वाले विशेषकर छोटे स्कूली बच्चों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है, जो स्मार्ट सिटी के लिए नगर निगम द्वारा किए जा रहे अथक प्रयासों को विफलता की ओर ले जाना दर्शाता है।