भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी मथौली-रामकोला मार्ग की गुणवत्ता की जांच शुरू

सांसद के पहल पर लखनऊ से आई, टीएससी की टीम जांच के लिए ले गयी सैम्पल

 | 
भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी मथौली-रामकोला मार्ग की गुणवत्ता की जांच शुरू

अवधनामा संवाददाता

कुशीनगर। भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी मथौली-रामकोला मार्ग की गुणवत्ता की जांच के लिए लखनऊ से पहुंची टीएससी की टीम ने सांसद विजय कुमार दुबे की उपस्थिति में मंगलवार को कुसमहां गांव के समीप सड़क खोदवाकर उसमे लगे मैटेरियल की सैम्पल लखनऊ लैब में जांच के लिए ले गयी। इसके अलावा टीम ने चार अन्य सड़को का भी सैम्पल लिया है। 

बता दें कि करीब 22 करोड़ की लागत से बनी 12 किमी लंबी मथौली-रामकोला मार्ग बनने के एक माह बाद ही भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गयी है। जिम्मेदारों के द्वारा भ्रष्टाचार इस कदर किया गया कि सड़क बनने के मात्र एक महीने में ही टूटने व धंसने लगी, जगह-जगह दरारे हो गयी थी। जैसे ही भ्रष्टाचार की खबरे मीडिया में आने लगी ठीकेदार द्वारा जगह-जगह मरम्मत कार्य शुरू कराने लगा। मरम्मत के बाद भी उक्त जगह सड़के फिर टूटने लगी और सड़क की गुणवत्ता की पोल खुल गयी ही गयी। इस भ्रष्टाचार में जितना दोषी ठीकेदार है उतना ही जनप्रतिनिधि व विभाग के जिम्मेदार अधिकारी भी है। मानक के विपरीत सड़क निर्माण कराकर सरकारी धन का बंदरबाट कर लिया गया। अब अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सड़क बनवाने में भ्रष्टाचार की सारी सीमाएं पार की गई है। ठीकेदार द्वारा कराये गए सड़क निर्माण की गुणवत्ता की जांच सांसद विजय कुमार दुबे के पहल पर लखनऊ से बुलाई गयी टीएससी की टीम ने कुसमहा गांव के समीप सांसद, अधिशासी अभियंता लोकनिर्माण विभाग हेमराज सिंह, सहायक अभियंता डीएन वर्मा व अन्य विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों की उपस्थिति में सड़क का जांच किया गया व सड़क में लगे मैटेरियल को लखनऊ की लैब में जांच के लिए सैम्पल सील कर ले गयी।इसके अलावा हरका से शिवपुर मार्ग, परतावल-पिपराइच मार्ग व हाटा-पिपराइच मार्ग की भी गुणवत्ता की जांच की गई। अब जांच के बाद ही पता चलेगा कि शासन-प्रशासन द्वारा सड़क निर्माण में भ्रष्टाचारियों के खिलाफ क्या कार्यवाई करती है या जांच के नाम पर लीपापोती कर भ्रष्टाचार जैसे मामलों को ठंडे बस्ते में डाल देगी।

इस मौके पर लोकनिर्माण विभाग के अवर अभियंता सन्तोष कुमार, जय चंद शर्मा, आशुतोष पाण्डेय, संजय यादव, वरुण मिश्रा, सांसद मीडिया प्रभारी निखिल उपाध्याय, विजय पाण्डेय, राजेश गुप्ता, सत्यवान कुमार, रामकिशुन, जितेंद्र सिंह सहित विभागीय अधिकारी व अन्य लोग मौजूद रहे।