लखीमपुर खीरी की घटना जलिया वाला बाग से कम नही- शाहिद लारी

 | 
लखीमपुर खीरी की घटना जलिया वाला बाग से कम नही- शाहिद लारी

अवधनामा संवाददाता

कुशीनगर। लखीमपुरी खीरी में किसानों के साथ हुई जघन्य हत्या जलिया वाला बाग से कम नही है। देश मे किसानों के साथ अंग्रेजी हुकूमत जैसा व्यवहार किया जा रहा है। सत्ता के घमंड में चूर राज्यमंत्री का बेटा किसानों पर गाड़िया चढ़ाकर सिद्ध कर दिया है कि प्रदेश में कानून का नही बल्कि गुंडाराज का बोल बाला है। 

उक्त बातें बसपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष शाहिद लारी ने एक प्रेसवार्ता के दौरान कहा। उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश में जिस तरह भाजपा की सरकार कानून का राज्य स्थापित करने की दावा कर रही है इसके इतर हो रहा है। प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गयी है, गुंडाराज कायम हो गया, लोग अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे है, जो भी अपना आवाज उठाना चाह रहे है जेल की सलाखों में कैद कर दिया जा रहा है। किसानों की हितैषी कहने वाली सरकार आज किसानों की जान लेने पर तूल गयी है जैसे लखीमपुर खीरी की घटना ताजा उदाहरण है। दिल्ली बार्डर पर किसान लगातार एमएसपी के खिलाफ धरना दे रहे है सरकार किसानों की मांग क्यों नही पूरी कर रही है, आखिर सरकार के सामने क्या मजबूरी है। महंगाई भ्रष्टाचार चरम पर है। अधिकारी कर्मचारी बेलगाम हो गए है। लूट, डकैती, छिनैती व दुष्कर्म की घटनाएं आम हो गयी है। पढ़ लिखकर युवा बेरोजगार घूम रहे है। कुल मिलाकर भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हो रही है।