कोरोना की कहर- ओमिक्रोन की लहर पर अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार संपन्न

 | 
कोरोना की कहर- ओमिक्रोन की लहर पर अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार संपन्न

अवधनामा संवाददाता 

सोनभद्र महादेवी वर्मा साहित्य शोध संस्थान सोनभद्र उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय वेबीनार संपन्न हुआ जिसका संयोजन एवं संचालन डॉक्टर बृजेश महादेव शिक्षक एवं साहित्यकार बेसिक शिक्षा परिषद सोनभद्र उत्तर प्रदेश ने किया. जूम एप पर आयोजित वेबिनार में देश-विदेश के 2 दर्जन से अधिक वक्ताओं ने प्रतिभाग कर कोरोना का कहर ओमीक्रोन की लहर, जनसमस्या और समाधान पर परिचर्चा की. वेबिनार की अध्यक्षता डॉ वीना सिंह प्राचार्या जीडी बिनानी पीजी कॉलेज मिर्जापुर उत्तर प्रदेश  ने कहा कि वैश्विक मुद्दे पर वेबीनार का आयोजन करने के लिए डॉक्टर बृजेश का यह प्रयास सराहनीय है. सुश्री सुमन सिंह शिक्षिका बेसिक शिक्षा परिषद सोनभद्र उत्तर प्रदेश द्वारा सरस्वती वंदना के साथ वेबीनार प्रारंभ हुआ. मुख्य अतिथि डॉक्टर विवेक मणि त्रिपाठी असिस्टेंट प्रोफेसर हिंदी क्वान्ग्तोंग विदेशी भाषा विश्वविद्यालय चीन ने अपने संबोधन में कोरोनावायरस का दुनिया के विकास पर प्रभाव के बारे में जानकारी दी. डॉ विक्रम सिंह चौहान प्रवक्ता, करनाल हरियाणा द्वारा कोरोनावायरस से स्वयं को सुरक्षित रखने के विशेष तरीके बताया गया. डॉ मोहम्मद शहिदुल इस्लाम  असिस्टेंट प्रोफेसर एस आर एम विश्वविद्यालय चेन्नई  ने अपने वक्तव्य में कोरोनावायरस से सावधान रहने पर जोर दिया. सम्मानित वक्ता गणों में डॉ विष्णु देव मलिक उड़ीसा ने कोरोनावायरस की लहर पर प्रकाश डाला तथा सतर्क रहने की अपील की. डॉ धनंजय सिंह मीरजापुर उत्तर प्रदेश  द्वारा दो गज की दूरी मास्क है जरूरी पर जोर दिया. गया प्रसाद बैस  अध्यक्ष बैसवार कल्याण समिति छत्तीसगढ़ ने ओमी क्रोन के लक्षण और सामान्य जानकारी बताई. राजेश्वरी बसवराज मेदार कर्नाटक ने कोरोनावायरस के फैलने का कारण पर प्रकाश डाला. डॉ वेद प्रकाश वेदी असिस्टेंट प्रोफेसर साकेत महाविद्यालय अयोध्या उत्तर प्रदेश द्वारा कोरोनावायरस का स्कूली शिक्षा पर प्रभाव पर चर्चा किया गया. डॉ हेमलता वर्मा हरिद्वार उत्तराखंड ने कोरोनावायरस को रोकने के लिए घरेलू उपचार पर जोर दिया. डॉ राजेश कुमार प्रमाणिक झारखंड  द्वारा कोरोनावायरस और ओमिक्रोन में अंतर स्पष्ट किया गया. डॉ भुवनेश्वर दुबे प्रयागराज उत्तर प्रदेश द्वारा बूस्टर डोज की जानकारी दी गई. वंदना गोपाल शैली छत्तीसगढ़ द्वारा कोरोनावायरस का जन सामान्य पर कुप्रभाव को बताया गया. डॉ प्रदीप कुमार बैस सिंगरौली मध्य प्रदेश  द्वारा कोरोनावायरस के टीकाकरण की विस्तृत जानकारी दी गई. तकनीक की वजह से ना जुड़े पाने के कारण विशिष्ट अतिथिगण विशाल त्रिपाठी प्रकाशक मैनेजर कांगो अफ्रीका, धर्मेंद्र दुबे अफ्रीका,सियानंद सिंह त्यागी अवकाश प्राप्त एसोसिएट प्रोफेसर

 मेरठ उत्तर प्रदेश, डॉ पी नजीम बेगम एसोसिएट प्रोफेसर दक्षिण भारत हिंदी प्रचार महासभा चेन्नई  डॉ अमृता पाऊल असिस्टेंट प्रोफेसर बेल्डा कॉलेज विंध्यसागर विश्वविद्यालय पश्चिम बंगाल, पी सरस्वती मद्रास विश्वविद्यालय चेन्नई, डॉक्टर रुचिका श्रीवास्तव बिहार ने अंतरराष्ट्रीय स्तर के इस आयोजन के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की. अंत में संचालक डॉ ब्रजेश महादेव द्वारा सभी वक्ताओं का आभार प्रकट करने के साथ ही विभिन्न आर संपन्न हुआ डॉक्टर बृजेश ने बताया कि वैश्विक महामारी पर आधारित अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक छोटा सा प्रयास है जो समय समय पर संचालित होता रहेगा