स्वर्ण प्राशन का पांचवा चरण हुआ संपन्न

 120 बच्चों को पिलाई गई स्वर्ण भस्म की दवा

 | 
स्वर्ण प्राशन का पांचवा चरण हुआ संपन्न

अवधनामा संवाददाता 

अयोध्या । बच्चों के स्वास्थ्य एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए यह आवश्यक है कि उनके शरीर को आवश्यक तत्वों की पूर्ति हो सके । स्वर्ण भस्म ऐसी दवा है जो बच्चों के अंदर संपूर्ण विकास करने में सहायक है।स्वर्ण प्राशन के पांचवे चरण का शुभारंभ साकेत पुरी स्थित अनंत शिखर में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ज्योतिष विद्या के सम्मानित अंतरराष्ट्रीय ज्योतिषाचार्य विनोद उपाध्याय द्वारा धनवंतरी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन के साथ हुआ। तत्पश्चात बतौर मुख्य अतिथि आचार्य विनोद उपाध्याय के द्वारा 11 बच्चों को दवा पिलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। कार्यक्रम के आयोजक वैद्य आर पी पांडेय ने स्वर्ण प्राशन के लाभ को विस्तार से बताया और यह भी कहा कि प्रत्येक बच्चे को स्वर्ण भस्म की 6 खुराक लेना आवश्यक होता है। कोई भी बच्चा 6 खुराक की दवा लेने के बाद भी वैद्य की सलाह अनुसार आगे भी स्वर्ण भस्म की दवा खा सकता है । स्वर्ण मस्तिष्क को विकसित  शरीर को बलवान एवं ज्ञान इंद्रियों को तेज करता है। यह प्रथा बहुत पुरानी है। स्वर्ण भस्म की दवा सभी के लिए लाभदायक है ।

कार्यक्रम में 120 बच्चों को स्वर्ण भस्म की शोधित दवा खिलाई गई तथा उन्हें केसर युक्त खीर भी दी गई। स्वर्ण प्राशन कार्यक्रम में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष देव पांडेय उपजा के जिला अध्यक्ष राजेन्द्र तिवारी उपाध्यक्ष जयप्रकाश गुप्ता पावन भारत टाइम्स के संपादक पवन पांडेय अमित पांडे कांति तिवारी दीपक पांडे सुशील पांडे अजय श्रीवास्तव श्याम बाबू गुप्ता शील दास  मनोज मिश्रा उर्मिला पांडेय अजय पाण्डेय कविराज सहित तमाम सम्मानित लोग उपस्थित रहे।