बच्चा बदलने को लेकर परिजनों ने हॉस्पिटल पर जमकर काटा बवाल

मौके से पहुंचे सीएमओ, एसडीएम व थानाध्यक्ष कप्तानगंज
 | 
बच्चा बदलने को लेकर परिजनों ने हॉस्पिटल पर जमकर काटा बवाल
अवधनामा संवाददाता
कुशीनगर। कप्तानगंज नगर स्थित एक निजी हास्पिटल में बच्चा बदलने को लेकर मंगवालर की सुबह परिजनों ने जमकर बवाल काटा। काफी गहमागहमी के बीच मौके पर पहुंचे एसडीएम, एचएसओ व मुख्य चिकित्साधिकारी ने घटना की जानकारी लिया और पीड़ित परिवार से प्राथमिकी दर्ज व डीएनए जांच कराने का आश्वासन दिया जिसके बाद मामला शांत हुआ। 
जानकारी के मुताबिक कप्तानगंज थाना क्षेत्र के ग्राम सभा भड़सर खास टोला करइलिया निवासी संजय साहनी की पत्नी राधिका देवी को प्रसव पीड़ा के उपरांत नगर के निजी सच्चिदानन्द हास्पिटल में प्रसव कराने हेतू रविवार को लेकर पांच 5 बजे सुबह लेकर आया तथा गेट के बाहर ही गाड़ी में बच्चा पैदा हो गया। संजय की मां व अन्य महिलाओं ने लड़का होना बताया उसके बाद जच्चा बच्चा के ईलाज हेतू उक्त हास्पिटल में भर्ती कराया तथा लड़का होने की खुशी मे मिठाई भी बांटी। भर्ती के दौरान बच्चे और परिवार को अलग कर दिया गया। सोमवार की रात नौ बजे स्थिति को गम्भीरपुर बताते हुए बच्चे को डॉ कपड़े में लपेट कर देते हुए गोरखपुर के लिए रेफर कर दिए। गम्भीर स्थिति को देखते हुए बच्चे को लेकर गोरखपुर एक नीजि हास्पिटल में भर्ती कराने गये डाक्टर ने कप्तानगंज हास्पिटल रेफर पर्ची व बच्चे को देखर कहा कि बच्ची को भर्ती कराना पड़ेगा। हमने बच्चे की स्थिति गम्भीर देखते हुए बच्चे के  ईलाज हेतू भर्ती करा दिया। उसके बाद कप्तानगंज सच्चिदानंद हास्पिटल पहुंच कर बच्चा बदलने की  शिकायत  करने पहुंचे, परन्तु बहुत कोशिशों  के बावजूद भी गेट नहीं खुला मजबूर होकर पुलिस को सूचना दिया। मौके से पहुंचे थानाध्यक्ष ने एसडीएम कोमल यादव व सीएमओ सुरेश पटारिया को जानकारी दिया। मौके से अधिकारी पहुंचे और उक्त हास्पिटल के खिलाफ कार्रवाई का आश्वाशन व डीएनए जांच कराने की बात पर पीड़ित परिवार माने। इस सम्बंध में थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि पीड़ित परिवार के तरफ से तहरीर मिली है, पुलिस मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई में जुट गई है।