जिलाधिकारी ने समस्त विभागों के विकास कार्यों की बिंदुवार की समीक्षा

नहरों में टेल तक पानी पहुचाने व सिंचाई हेतु निर्बाध विद्युत आपूर्ति के दिये निर्देश

 | 
जिलाधिकारी ने समस्त विभागों के विकास कार्यों की बिंदुवार की समीक्षा

अवधनामा संवाददाता

ललितपुर। जिलाधिकारी आलोक सिंह की अध्यक्षता में शासन द्वारा चिन्हित नवीन विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों के निर्धारित 37 प्रपत्रों पर समीक्षा बैठक कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने समस्त विभागों के विकास कार्यों की बिंदुवार समीक्षा प्रारंभ की। एन्टी भू माफिया की समीक्षा के दौरान बताया गया कि अब तक 518 राजस्व वाद, 01 सिविल वाद तथा 72 एफआईआर दर्ज करायी गई हैं। अवैध खनन मामालें की समीक्षा में बताया गया कि विगत माह तक अवैध खनन/परिवहन के कुल 102 मामले पकड़े गए हैंजिनमें 82 मामलों में रु0 30,10,802.00 का राजस्व प्राप्त हुआ है एवं 16 मामलों में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय के समक्ष प्रेषित किये गए हैं। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत जनपद में 89435 परिवारों के 447175 लाभार्थियों को योजना से आच्छादित किया गया हैसाथ ही 113855 लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाये जा चुके हैं। इसके अलावा टीकाकरण का कार्य लगातार किया जा रहा हैजितनी वैक्सीन प्राप्त हो रही हैउसके सापेक्ष पूर्ति की जा रही है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि लक्ष्य के सापेक्ष जितने गोल्डन कार्ड बनाये जाने हेतु शेष हैंउन्हें शीघ्र पूर्ण किया जाए। साथ ही कोविड व सामान्य टीकाकरण के कार्य प्रगति के साथ पूर्ण करें। जनपद में सिंचाई व्यवस्था की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने अधि. अभियंता सिंचाई को निर्देश दिये कि जनपद में सिचांई हेतु नहरों में रोस्टर के अनुसार टेल तक पानी पहुचाना सुनिश्चत करेंजिससे कृषकों को असुविधा न होइसके अलावा अधि.अभि.विद्युत सिंचाई के दौरान निर्बाध विद्युत आपूर्ति करें। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत कुल 242000 कृषकों के सापेक्ष 161511 कृषकों को बीमित किया गया है तथा माह में 158 दावों में से 131 स्वीकृत व 27 निरस्त किये गए हैं। साथ ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत 293262 कृषकों का डाआ पोर्टल पर फीड किया जा चुका है व डाटा सुधार हेतु 29997 के सापेक्ष 24325 का डाटा सुधार हो चुका है। निराश्रित गौवंशों की समीक्षा में बताया गया कि जनपद में 16 स्थायी/अस्थायी आश्रय स्थल व 01 पंजीकृत गौशाला क्रियाशील हैजिनमें कुल 30518 गौवंश संरक्षित हैं। साथ ही गौवंश सहभागिता योजना के तहत 5138 लक्ष्य के सापेक्ष सभी गौवंश सुपुर्द किये जा चुके हैं। इस पर जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि सहभागिता योजना के तहत गौवंश आश्रय स्थलों में संरक्षित दुधारु पशुओं की रिपोर्ट प्रेषिक करें। पंचायती राज विभाग के तहत पंचायत भवन एवं सामुदायिक शौचालयों की समीक्षा के दौरान बताया गया कि 84 पंचायत भवनों में से 76 पूर्ण हैं। 402 सामुदायिक शौचालयों में से 387 पूर्ण हैं। साथ ही जनपद में कायाकल्प के अन्तर्गत 3815 लक्ष्य के सापेक्ष 3442 की पूर्ति अर्जित कर ली गई है। इस पर जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिये गए कि कायाकल्प योजना में शासन के निर्देशानुसार प्राथमिकता के साथ कार्य करें। पेयजल आपूर्ति की समीक्षा के तहत बताया गया कि रा.ग्रा.पे. कार्यक्रम के तहत रानीपुरा ग्राम समूह पेयजल योजना (12 ग्राम सम्मिलित) का कार्य 97 प्रतिशत तक पूर्ण हो चुका है। इसके अलावा जल जीवन मिशन के तहत 2896 मरम्मत योग्य हैण्डपंपों में से 2765 की मरम्मत तथा 206 रीबोर योग्य हैण्डपंपों में से 159 रीबोर करा लिये गए हैं। इस पर अधि.अभि. जल निगम को निर्देश दिये गए कि जनपद में संचालित पेयजल योजनाओं की रिपोर्ट प्रस्तुत करें। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजनान्तर्गत बताया गया कि 217 आवेदकों को लाभान्वित किया जा चुका है। इस पर जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिये गए कि आगामी आयोजन हेतु जोड़ों का चिन्हांकन पूर्ण करें। इसी दौरान उन्होंने श्रम प्रवर्तन अधिकारी को निर्देश दिये कि जनपद के शहरी/ग्रामीण क्षेत्रों सहित सभी विभागों में कार्यरत श्रमिकों का पंजीकरण अनिवार्य रुप से करायें। बैठक के अंत में जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारी बैठकों में पूर्ण तैयारियों के साथ समय से उपस्थित हों। सभी अधिकारी अपने विभागीय दायित्वों का गंभीरतापूर्वक निर्वहन करें। इसके साथ ही लोगों की समस्याओं को प्राथमिकता के साथ निस्तारित करेंजिससे उन्हें सुदूर क्षेत्रों से शिकायत लेकर हमारे पास न आना पड़े। बैठक में सीडीओ अनिल पाण्डेयपीडी डीआरडीएसीएमओडीएफओडीसी मनरेगाडीपीआरओअल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।