जिला पंचायत निधि से कराए गए विकास कार्यों की गुणवत्ता का आयुक्त ने किया जांच

वित्तीय वर्ष 2017-18 में विकास खंड मोतीचक के भलुही व सुकरौली के बगरादेउर व बेंदुआर गांव में हुई जांच

 | 
जिला पंचायत निधि से कराए गए विकास कार्यों की गुणवत्ता का आयुक्त ने किया जांच

अवधनामा संवाददाता

कुशीनगर। विकास खंण्ड मोतीचक के गांव भलुही व सुकरौली ब्लॉक के बगरादेउर एवं बेंदुआर में मंडलायुक्त के निर्देश पर मंगलवार को अपर आयुक्त द्वारा जिला पंचायत द्वारा कराये गए वित्तीय वर्ष 2018 में विकास कार्यों की जांच की गई। जांच टीम को पहुंचने के बाद विभाग में खलबली मच गई है।

बता दें कि कप्तानगंज विकास खंण्ड के ग्राम सभा अमडीहा निवासी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष मास्टर राधेश्याम सिंह ने मुख्य सचिव लखनऊ को रजिस्टर्ड पत्र भेजकर समूचे कुशीनगर जनपद में वर्ष 2018 से जिला पंचायत द्वारा हुए विकास कार्यों के जांच की मांग की थी। जिस पर मुख्य सचिव ने मामले को गंभीरता से लेते हुए गोरखपुर मंडल आयुक्त को जांच कराने का निर्देश दिया था जिसके तहत सितंबर माह मे गोरखपुर मंडल की टीएसी जांच टीम ने आर पी चौधरी के नेतृत्व में जांच कर शासन को कार्यवाही के लिए रिपोर्ट प्रेषित किया था। इससे जांच प्रकरण में कार्यवाही की जद में आए लोगों ने पहले की गई उक्त जांच को पुनः कराने के लिए मंडलायुक्त गोरखपुर को एक प्रार्थना पत्र दिया था जिसके क्रम में मंडलायुक्त गोरखपुर ने अपर आयुक्त न्यायिक विंध्यवासिनी राय के साथ डिप्टी डायरेक्टर पंचायत गोरखपुर मंडल समरेंद्र यादव की टीम को मौके पर जाकर जांच कर रिपोर्ट मांगा था। जिसके तहत मंगलवार को अपर आयुक्त न्यायिक गोरखपुर विंध्यवासिनी राय की टीम ने मोतीचक विकास खंण्ड के ग्रामसभा भलुही व सुकरौली विकास खंण्ड के ग्राम बगरा देउर एवं बेंदुआर में पहुंच जिला पंचायत द्वारा कराए गए इंटरलॉकिंग सड़क की गुणवत्ता की जांच की।इस जांच टीम में एक्सईएन बाढ़ खंण्ड कुशीनगर, अवर अभियन्ता जिला पंचायत कुशीनगर जे ई आर ई एस गोरखपुर एवं कुशीनगर अवर अभियन्ता जिला पंचायत गोरखपुर शामिल रहें।

इस संबंध में अपर आयुक्त न्यायिक विंध्यवासिनी राय ने बताया कि पूर्व में जिला पंचायत द्वारा वित्तीय वर्ष 2017-18 में निर्मित 17 इंटरलॉकिंग सड़कों की जांच की गई थी परंतु पुनः जांच कराने को लेकर मंडलायुक्त के निर्देश पर उक्त सड़कों की जांच की गई है गुणवत्ता की रिपोर्ट भेजी जाएगी।