प्रमाण पत्र बनाने में तहसील के लेखपाल कर रहे अवैध वसूली

पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा का एक प्रतिनिधि तहसीलदार से मिला
 
 | 
प्रमाण पत्र बनाने मंे तहसील के लेखपाल कर रहे अवैध वसूली

अवधनामा संवाददाता 

सहारनपुर। जाति प्रमाण पत्र व आय प्रमाण पत्र बनाने में की जा रही अवैध वसूली के विरोध में पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा का एक प्रतिनिधि मण्डल तहसीलदार से मिला और पूरे मामले से अवगत कराते हुए लेखपालों की बर्खास्तगी की मांग की।
पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा के नेतृत्व में तहसीलदार सहारनपुर से मिला। राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि लेखपाल द्वारा खुलेआम जाति प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र बनाने के लिए रूपये 100 से 5000 रूपये तक की वसूली की जा रही है। राकेश कश्यप लेखपाल व सुनील कुमार अर्जुन के द्वारा रिश्वत कलेक्ट कराने का काम करताहैऔर लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। सही प्रमाण पत्र निवास प्रमाण पत्र को भी खारिज किया जाता है यदि सौ से डेढ़ सो रुपय इनके नहीं दिए जाते। क्योंकि अगर कोई सौ डेढ़ सौ रुपए नहीं देता, तो उनके प्रमाणपत्रों को खारिज कर दिया जाता है। वर्मा ने तहसीलदार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि यह रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार तहसीलदार से खत्म नहीं होता है और राकेश कश्यप, अर्जुन, सुनील कुमार को बर्खास्त नहीं गया, तो पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा धरना देने का काम करेगाऔर तहसील में भ्रष्टाचार के खिलाफ आरपार की लड़ाई लड़ने का काम करेगा।इस दौरान प्रदेश महामंत्री आसिम मलिक, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष रविंदर चौधरी, जिला अध्यक्ष सुशील गुर्जर धारकी व आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।