तिकुनिया घटना स्थल पर पहुंची टीम

 | 
तिकुनिया घटना स्थल पर पहंुची टीम
अवधनामा संवाददाता 

लखीमपुर खीरी .तिकुनिया कांड की जांच करने के लिए आई टीम घटनास्थल पर पहुंची। टीम ने उस दिन ड्यूटी पर रहे अधिकारियों को मौके पर तलब कर घटना के बारे में जानकारी हासिल की इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायाधीश ;सेवानिवृत्तद्ध प्रदीप कुमार श्रीवास्तव की अगुवाई में न्यायिक आयोग का गठन किया गया है। तीन अक्टूबर को तिकुनिया में 8 लोगों की मौत के मामले में जांच करने के लिए सरकार ने 6 अक्टूबर को ही इस आयोग का गठन कर दिया था। आयोग को अपनी रिपोर्ट दो महीने के अंदर सरकार को सौंपनी थी। सोमवार की शाम आयोग के अध्यक्ष जस्टिस ;सेवानिवृत्तद्ध प्रदीप कुमार श्रीवास्तव 6 लोगों की टीम के साथ खीरी पहुंचे थेए यहां उन्होंने डीएमए एसपी से घटनाक्रम के बारे में जानकारी की और घटना से जुड़े तमाम इनपुट एकत्र किए  न्यायिक आयोग की टीम तिकोनिया में घटनास्थल पर पहुंची है जहां जांच का काम जारी है।एसआईटी में ये हैं तीन नए अफसर बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 3 वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों एसबी शिरोडकरए दीपेंदर सिंह और पद्मजा चौहान को एसआईटी पैनल में शामिल किया है। केस की सुनवाई के दौरान यूपी सरकार ने अदालत में कहा कि वह घटना में मरने वाले लोगों के परिजनों को मुआवजा दे रही है। हालांकि सरकार ने कहा कि इसमें उन लोगों की भी पिटाई के बाद मौत हुई हैए जिन पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप था। फिलहाल उन लोगों के परिजनों की मदद को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया है

आशीष मिश्रा की बेल अर्जी भी खारिज

शीर्ष अदालत ने सोमवार को ही यूपी सरकार से कहा था कि वह उन लोगों की मदद पर विचार करेए जिन तक अब तक कोई राहत नहीं पहुंची है। इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि अब मामले की अगली सुनवाई एसआईटी की ओर से जांच की स्टेटस रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद ही होगी। बता दें कि 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में किसान आंदोलनकारियों पर भाजपा समर्थकों की एक कार चढ़ गई थीए जिसमें 4 किसानों और एक पत्रकार की मौत हो गई थी। इसके बाद भड़की हिंसा में तीन लोगों की पिटाई से मौत हो गई थी। इस मामले में यूपी पुलिस ने अब तक 13 लोगों को गिरफ्तार किया हैए जिनमें से एक केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा का बेटा आशीष मिश्रा भी है। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को मिश्रा की बेल अर्जी भी खारिज कर दी थी

लखीमपुर.खीरी के तिकुनिया कांड की न्यायिक जांच के लिए गठित एकल सदस्यीय न्यायिक आयोग की टीम जांच के लिए तिकुनिया पहुंच गई है। जस्टिस ;सेवानिवृत्तद्ध प्रदीप श्रीवास्तव की अध्यक्षता में टीम ने घटनास्थल का मुआयना किया और पुलिस अफसरों से इस बारे में जानकारी ली है। टीम ग्रामीणों से भी तीन अक्तूबर की घटना को लेकर जानकारी लेगी। सेवानिवृत्त जस्टिस पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में रुककर तिकुनिया कांड की जांच करेंगे।प्रशासन ने बताया कि गेस्ट हाउस में ही उनका कार्यालय भी बनाया गया है। डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि तिकुनिया कांड की न्यायिक जांच के लिए गठित न्यायिक आयोग के अध्यक्ष जिले में पहुंचे हैं। बीती तीन अक्तूबर को हुए तिकुनिया कांड में चार किसानोंए एक पत्रकार और दो भाजपा कार्यकर्ता व एक चालक समेत आठ की मौत हो गई थी इस मामले की सरकार ने न्यायिक जांच कराने का निर्णय लिया था। छह अक्तूबर को न्यायिक जांच के लिए हाईकोर्ट इलाहाबाद के सेवानिवृत्त न्यायाधीश प्रदीप कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में एकल सदस्यीय आयोग का गठन किया गया। इसके लिए सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी थी