छात्र छात्राओं को आपदा प्रबन्धन व प्राथमिक उपचार का दिया गया प्रशिक्षण

 | 
छात्र  छात्राओं को आपदा प्रबन्धन व प्राथमिक उपचार का दिया गया प्रशिक्षण 

अवधनामा संवाददाता

लखीमपुर खीरी .शासन की मंशानुसार मिशन शक्ति फेज.3 के अन्तर्गत युवराज दत्त महाविद्यालय में स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से छात्र ध् छात्राओं को आपदा प्रबन्धन व प्राथमिक उपचार का प्रशिक्षण दिया गया। मिशन शक्ति के सदस्य व एन एस एस नोडल अधिकारी डॉ० सुभाष चन्द्रा ने कार्यक्रम का संचालन एवं विषय प्रवर्तन करते हुए आपदा की स्थिति में प्राथमिक उपचार के महत्व पर प्रकाश डाला। जिला अस्पताल से आये वरिष्ठ चिकित्सक डॉ० एस०के० सिंह व डॉ० आर०पी० मौर्य ने आपदा प्रबन्धन व प्राथमिक उपचार के विभिन्न बिन्दुओं पर उपस्थित छात्र ध् छात्राओं को जानकारी बड़े ही रोचक व सरल शब्दों में उपलब्ध करायी। डॉ० मौर्य ने कहा कि सर्व प्रथम आपदा के समय धैर्य व हौसला बनाये रखना अत्यन्त आवश्यक है। आपदा प्रबन्धन में जैसे बाढ़ की स्थिति में जल स्तर से ऊँचे स्थल पर अपने जान.माल की सुरक्षा की जा सकती है। भूकम्प की स्थिति में किसी मेज या चारपाई के नीचे जाकर अपनी जान बचाये। आग लगने पर आग बुझाने हेतु रेतए कम्बल व जल का प्रयोग करें। सांप काटने की स्थिति में काटे गये स्थान से कुछ इंच ऊपर किसी कपडे से बांध दे। किसी भी प्रकार के दौरे आने पर किस प्रकार उसका इलाज किया जाये इसकी जानकारी उपलब्ध करायी। सभी को प्राथमिक उपचार हेतु अपने घर व वाहन में रूई पट्टीए एंटी सेप्टिक कीम रखनी चाहिये। जानकारी के अभाव में गलत उपचार कभी न करें और अंधविश्वासों से दूर रहें। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ० डी०एन० मालपानी ने बताया कि केवल छात्राओं को ही नही वरन् छात्रों को भी आपदा प्रबन्धन व प्राथमिक उपचार की जानकारी होना आवश्यक है। मिशन शक्ति का उद्देश्य महिलाओं को सशक्त करने के साथ.साथ उनका सर्वांगीण विकास करना भी है। मिशन शकित की संयोजक डॉ० नीलम त्रिवेदी ने बताया कि प्राथमिक उपचार कर बिना बिलम्ब के पीडित को अस्पताल पहुॅचाना चाहियेए ताकि पीड़ित की जान बचायी जा सके। मिशन शक्ति की सदस्य डॉ० ज्योति पंत ने बताया कि प्राथमिक उपचार के साथ.साथ धैर्य पूर्वक समस्या का समाधान करना चाहिए। एनएसएस स्वयंसेवक व एनएसीसी कैडेट्स ने कार्यक्रम में बढ़.चढ़कर भागीदारी की व प्राथमिक उपचार व आपदा प्रबन्धन की बारीकियों को रूचि लेकर समझा कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ० इष्ट विभु ए मनोज कुमारए डॉ० ओ०पी० सिंहए विजय प्रताप सिंहए  दीपक कुमार बाजपेईए  बृजेश शुक्ला आदि उपस्थित रहे