एनटीपीसी गेट बंद होने से छात्रों को झेलनी पड़ रही परेशानी।

गेट नंबर 4 बंद होने से स्कूली छात्रों को तय करनी पड़ती है लंबी दूरी।

 | 
एनटीपीसी गेट बंद होने से छात्रों को झेलनी पड़ रही परेशानी।

अवधनामा संवाददाता 

सोनभद्र /शक्तिनगर एनटीपीसी शक्तिनगर आवासीय परिसर गेट नंबर 4 बंद होने से स्कूली छात्रों को लंबी दूरी तय करने के कारण खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एनटीपीसी आवासीय परिसर के आसपास रहवासी क्षेत्रों से बड़ी संख्या में बच्चे राजकीय इंटरमीडिएट विद्यालय में अध्ययन के लिए जाते हैं। लेकिन गेट नंबर 4 बंद होने के कारण छात्रों को प्रतिदिन एनटीपीसी आवासीय परिसर के बाहर बाहर होते हुए लगभग 4 किलोमीटर का सफर तय करना पड़ रहा है। कोरोना महामारी के दौर में बंद हुए स्कूल तो खोल दिए गए लेकिन लगता है एनटीपीसी आवासीय परिसर का जिम्मा देख रहा है अधिकारियों के अंदर से कोरोना का डर खत्म नहीं हुआ है।

दरअसल पूरा मामला कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन लगते समय एनटीपीसी ने अपने आवासीय परिसर के सभी गेट बंद कर लिए थे। परंतु जैसे-जैसे अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हुई ऊर्जा द्वार और नायक द्वार से आवागमन तो शुरू हो गया पर गेट नंबर 4 खुलने का एनटीपीसी ने कोई शुभ मुहूर्त नहीं निकल पाया। जिसके कारण स्कूली छात्रों को शिक्षा प्राप्त करने हेतु लंबी दूरी तय करना पड़ रहा है। 

एनटीपीसी आवासीय परिसर में भी बहुत विद्यालय संचालित होते हैं लेकिन गेट नंबर 4 बंद होने के कारण एनसीएल कॉलोनी व आसपास के बच्चों को भी लगभग 3 किलोमीटर का दूरी तय कर विद्यालय पहुंचना पड़ रहा है। एनटीपीसी का गेट नंबर 4 और एनसीएल का गेट नंबर 3 दोनों बंद होने के कारण स्कूली छात्रों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सोमवार को दोपहर में छुट्टी के समय सैकड़ों की संख्या में स्कूली छात्र गेट नंबर 4 के सामने खड़े होकर प्रतिदिन होने वाली दिक्कतों से सीआईएसफ कर्मचारियों को अवगत कराया था।

जनता के सरोकार के मुद्दे पर विवेक शुन्य हो चुके अधिकारियों को प्रतिदिन छात्रों को होने वाली परेशानियों से कोई फर्क नहीं पड़ता। उन्हें तो बस अपनी डफली अपना राग बजाने आता है।