आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर होगी कठोर कार्यवाही : आलोक सिंह

 | 
आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर होगी कठोर कार्यवाही : आलोक सिंह
अवधनामा संवाददाता 

विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 निष्पक्ष, पारदर्शी चुनाव कराना होगी प्राथमिकता

निर्वाचन के दौरान कोविड-19 संक्रमण से लोगों को बचाने की भी रहेगी प्राथमिकता

15 जनवरी 2022 तक रैली, जनसभा, रोड शो, पद यात्रा रहेगा प्रतिबन्धित: जिला निर्वाचन अधिकारी

कोविड संक्रमण के दृष्टिगत दिव्यांग व 80 वर्श के वृद्ध मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट का भी विकल्प

निर्वाचन सम्बंधी जानकारी/शिकायत के लिए टोल फ्री नम्बर 1950 पर कॉल करें

आदर्श आचार संहिता का अक्षरश: अनुपालन कराने के लिये जिला प्रशासन कटिबद्ध

डीएम ने विभिन्न राजनीतिक दलों, अधिकारियों एवं प्रेस प्रतिनिधियों को आर्दश आचार संहिता के बारे में दी विस्तृत जानकारी

ललितपुर। भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा उत्तर प्रदेश में विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 की घोषणा के उपरान्त जिला निर्वाचन अधिकारी/जिला मजिस्ट्रेट आलोक सिंह ने विकास भवन सभागार में समस्त उपजिलाधिकारी, समस्त क्षेत्राधिकारी, निर्वाचन व्यवस्थाओं हेतु नियुक्त समस्त प्रभारियों, विभिन्न राजनीतिक दलों तथा जनपद के पिं्रट/इलैक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधियो से वार्ता करते हुये आदर्श आचार संहिता व निर्वाचन से सम्बन्धित सभी कार्यो के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

जिला निर्वाचन अधिकारी/जिला मजिस्ट्रेट आलोक सिंह ने कहा कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 को पूरी पारदर्शी, निष्पक्ष व स्वस्थ तरीके से सम्पन्न कराने के लिये प्रशासन कटिबद्ध है। उन्होंने भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा उत्तर प्रदेश में 07 चरणों में होने वाले विधानसभा सामान्य निर्वाचन के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि निर्वाचन की अधिसूचना 25 जनवरी 2022 को जारी होगी, नाम निर्देशन हेतु अंतिम तिथि 01 फरवरी 2022, नाम निर्देशनों की जांच दिनांक 02 फरवरी 2022, नाम वापसी हेतु अंतिम तिथि 04 फरवरी 2022 तथा मतदान दिनांक 20 फरवरी 2022 को और मतगणना दिनांक 10 मार्च 2022 को संपन्न होगी। उन्होंने बताया कि निर्वाचन कार्य को निष्पक्ष, शान्तिपूर्ण व पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराने के लिये कुल 752 मतदान केन्द्र व 1148 मतदेय स्थल बनाये गये हैं, इन मतदेय स्थलों पर कुल 936975 मतदाता हैं जिसमें 488322 पुरूष एवं 448653 महिला मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें 5868 दिव्यांग मतदाता तथा 14835 मतदाता 80 वर्ष से अधिक आयु वाले हैं। जनपद में 752 मतदान केन्द्र तथा 1148 मतदेय स्थल हैं। जनपद का जेंडर रेशों 919 तथा जनपद का ईपी रेशो 61.75 है। दिव्यांग एवं 80 वर्ष से अधिक आयु वाले मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट का ऑप्शन भी होगा। उन्होंने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुये बताया कि जनपद में निष्पक्ष, पारदर्शी व स्वस्थ विधानसभा चुनाव कराना जिला प्रशासन की पहली प्राथमिकता होगी। उन्होने कहा कि आदर्श आचार संहिता का अक्षरश: पालन कराया जाएगा। विधानसभा चुनाव के साथ ही कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाना भी हमारी प्राथमिकता रहेगी। उन्होने कहा कि निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार चुनाव आयोग ने 15 जनवरी 2022 तक किसी भी तरह का रोड शो, रैली, साइकिल रैली पद यात्रा आदि पर पूर्णतया रोक लगा दी है। इस दौरान किसी भी राजनैतिक दल व किसी अन्य के द्वारा किसी प्रकार का रैली, रोड शो, जन सभा नही किया जायेगा। उन्होने कहा कि 15 जनवरी 2022 के बाद कोविड-19 की स्थिति के बाद निर्णय लिया जाएगा। प्रचार सामग्री तैयार कराने से पूर्व एमसीएमसी से अनुमति लेना अनिवार्य होगा। उन्होने कहा कि लोगों को अधिक से अधिक मतदान करने के लिए स्वीप/मतदाता जागरूकता कार्यक्रमो के माध्यम से प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस बार ऑनलाइन नामांकन की सुविधा रहेगी, लेकिन उसकी हार्ड कॉपी स्वयं प्रत्याशी द्वारा आर.ओ. के समक्ष प्रस्तुत करनी होगी। नामांकन के दौरान प्रत्याशी के साथ केवल 02 लोग ही नामांकन कक्ष में प्रवेश कर सकेंगे। प्रत्याशी को 40 लाख तक व्यय करने की अनुमति होगी। उन्होने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों सहित मीडिया बन्धुओ से भी अपील करते हुये कहा समाचार पत्रो व विभिन्न टी0वी0 चैनलो व सोशल मीडिया के माध्यम से भी लोगों को अधिक से अधिक मतदान के लिए प्रेरित किया जाये। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जनपद में आदर्श आचार सहिंता लागू हो गई है। इसके बाद से ही कार्रवाई आरंभ हो गई। बैनर, पोस्टर आदि हटवाने का कार्य प्रारंभ करा दिया गया है, उन्होंने कहा कि आदर्श आचार संहिता के तहत किसी भी सरकारी बिलिं्डग पर बैनर पोस्टर हार्डिंग झंडे आदि नहीं लगाए जाएंगे, इसका कड़ाई से अनुपालन किया जाए। राजनैतिक दलो के प्रतिनिधियो से अपील करते हुये जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सरकार सम्पत्ति यथा भवनों सहित अन्य सरकारी सम्पत्तियों पर किसी भी प्रकार का बैनर पोस्ट न लगाये यदि किसी द्वारा लगाया गया हो तो उसे स्वयं हटवा लें अन्यथा जिला प्रशासन के द्वारा हटवाये जाने पर सम्बन्धित को नोटिस भेजते हुये आने वाले व्यय की वसूली की जायेगी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने समस्त अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि निर्वाचन में सबसे महत्वपूर्ण है, ई0वी0एम0, वी0वी0पैट व बैलेट पेपर। बैलेट पेपर के लिए सम्बंधित अधिकारी दिशा-निर्देशों को ठीक से अध्ययन कर लें, ताकि बाद में कोई समस्या न हो। उन्होंने जिला विकास अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि सभी प्रभारियों/नोडल अधिकारियों का प्रशिक्षण करा लें, साथ ही प्रशिक्षण में कोविड गाइडलाइन का पालन करें। निर्वाचन से सम्बंधित सभी जानकारी आयोग की बेवसाइट पर अपलोड है, उसे डाउनलोड कर ध्यान से अध्ययन कर लें। आचार संहिता लागू हो जाने के कारण आज से जो भी प्रचार होगा वह पार्टी फण्ड में एड होगा तथा कैंडिडेट क्लियर होने के पश्चात कैंडिडेट के फण्ड में एड होगा। सभी अधिकारी अपने दायित्वों का भली-भांति अध्ययन कर लें, निर्वाचन सबसे महत्वपूर्ण कार्य है, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक गिरिजेश सिंह ने जनपद में समस्त विधानसभा क्षेत्र में होने वाले विधानसभा सामान्य निर्वाचन -2022 को निष्पक्ष शुचिता पूर्ण संपन्न कराए जाने के लिए पर्याप्त पुलिस बल की उपलब्धता, चुनाव को प्रभावित करने वाले अथवा दूषित करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए की गई कार्यवाही, अवैध शराब के विरुद्ध कार्यवाही के साथ ही अवैध शराब से संबंधित व्यक्तियों के विरुद्ध की गई कार्यवाही की जानकारी दी तथा निर्वाचन के दौरान सुरक्षा व्यवस्थाओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी गुलशन कुमार, जिला विकास अधिकारी के.एन.पाण्डेय, परियोजना निदेशक ए.के.सिंह, डी.सी. मनरेगा रवीन्द्रवीर यादव, जिला सूचना अधिकारी सुरजीत सिंह, समस्त उप जिलाधिकारी एवं निर्वाचन व्यवस्थाओं के लिए नियुक्त समस्त अधिकारीगण, राजैनतिक दलों के प्रतिनिधि एवं पत्रकार बंधु मौजूद रहे।