जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में लापरवाही पर एलटी समेत तीन डाटा ऑपरेटरों का रोका वेतन

कामचोर एमओआईसी को भी जमकर लताड़ा, सुधरे की दी नशीहत

 | 
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में लापरवाही पर एलटी समेत तीन डाटा ऑपरेटरों का रोका वेतन

अवधनामा संवाददाता

कुशीनगर। जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। प्रदेश भर कुशीनगर जिले को 69 वीं रैंकिंग मिलने पर जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदारों को कड़ी फटकार लगाई। लापरवाही में एलटी समेत तीन डाटा ऑपरेटरों का 15 दिन का वेतन रोकने के साथ ही कामचोर एमओआईसी को भी जमकर लताड़ा। 

बैठक में टीकाकरण की प्रतिशतता, आशा और आंगनवाड़ी के कार्य, बच्चों का इम्यूनाइजेशन, नवजात शिशुओं का आशा द्वारा विजिट, आशाओं के द्वारा डिलीवरी, नवजात शिशुओं के लिए एसएनसीयू बेड और वार्ड, मातृ स्वास्थ्य सेवा हेतु उपलब्धता एवं डिलीवरी, लेप्रोसी के संबंध में जनपद कुशीनगर की स्थिति, स्वास्थ्य क्षेत्र में जनपद की रैंकिंग इत्यादि मुद्दों पर समीक्षा बैठक संपन्न हुई।

 इस क्रम में जिलाधिकारी महोदय के द्वारा टीकाकरण की प्रतिशतता जिन जिन क्षेत्रों में कम है उन क्षेत्रों के एमओआई सी को पूछा कि यदि आपके पास संसाधन है तो टीकाकरण क्यों नहीं हो रहा है, एवं खराब परफॉर्मेंस वाले एमओआईसी को फटकार भी लगायागया। जिलाधिकारी ने कहा कि टीकाकरण का कवरेज बढ़ाना है। किसी भी प्रकार की कोई सलाह इस संदर्भ में हो तो आप बताएं। नवजात शिशु का आशा के द्वारा विजिट के संदर्भ में भी जिलाधिकारी महोदय ने कहा कि इस संदर्भ में विजिट की प्रतिशतता बढ़ाए जाने की जरूरत है। उन्होंने संगिनी और आशा की रिपोर्टिंग संबंधित एक फॉर्मेट बनाने का निर्देश दिया जिस में कितना विजिट होना चाहिए और कितना हुआ है का उल्लेख हो।

जिलाधिकारी ने जनपद कुशीनगर के स्वास्थ्य के क्षेत्र में प्रदेश में 69 वी रैंकिंग होने पर संबंधित से पूछा कि जनपद कुशीनगर का स्वास्थ्य क्षेत्र में परफॉर्मेंस इतना खराब क्यों है। उन्होंने कहा की सिर्फ समीक्षा बैठक करके खानापूर्ति ना करें बल्कि कार्य करें और जनपद कुशीनगर का स्वास्थ्य क्षेत्र में  रैंकिंग में वृद्धि करें ।उन्होंने यह भी कहा कि आप चाहते हैं कि सिस्टम ईमानदार हो तो खुद बेईमान मत बनिए।  इस क्रम में उन्होंने सभी पैरामीटर में खराब परफॉर्मेंस करने के लिए विशुनपुरा के एम ओ आई सी  से स्पष्टीकरण भी तलब किया गया। कुछ संविदाकर्मी डाटा ऑपरेटर पर कार्य में लापरवाही करने पर कार्यवाही भी की गई। इस क्रम में  उमेश सीएचसी तमकुही, मिन्ता देवी सीएचसी हाटा, प्रतिभा सीएचसी रामकोला तथा विवेकानंद एल टी हाटा का 15 दिनों का वेतन रोका गया तथा जिलाधिकारी के द्वारा निर्देश दिया गया इस प्रकार की लापरवाही आगे भी जारी रहने पर एफ आई आर भी की जा सकती है।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सुरेश पटारिया, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक समेत जनपद स्तरीय अधिकारीगण, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिला सूचना अधिकारी कृष्ण कुमार आदि उपस्थित रहे।