वर्क आर्डर जारी कर तुरंत काम शुरु करें: मंडलायुक्त

मंडलायुक्त ने अफसरों से पूछा, 30 जनवरी तक कितना काम कर लेंगे
 
 | 
वर्क आर्डर जारी कर तुरंत काम शुरु करें: मंडलायुक्त

अवधनामा संवाददाता 

सहारनपुर। स्मार्ट सिटी बोर्ड के चेयरमैन व मंडलायुक्त डाॅ.लोकेश एम ने स्मार्ट सिटी की परियोजनाओं से जुड़ी विभिन्न कार्यदायी संस्थाओं जल निगम, आरसीसी, यूपीसीएल आदि से 30 जनवरी तक कार्य का लक्ष्य लिया और अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन कार्यो के टेंडर हो चुके हैं उनके वकआॅर्डर जारी कर काम तुरंत शुरु करायें अन्यथा आचार संहिता लागू होने पर परियोजनाओं में देरी होगी। मंडलायुक्त व स्मार्ट सिटी चेयरमैन डाॅ. लोकेश एम की अध्यक्षता में स्मार्ट सिटी बोर्ड आफ डायरेक्टर्स की बैठक सोमवार को सर्किट हाउस में हुयी। बैठक में मंडलायुक्त ने स्मार्ट सिटी से जुड़ी सभी परियोजनाओं की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने जल निगम, यूपीपीसीएल, आरसीसी व आईसीसीसी से जुड़ी कार्यदायी संस्थाओं से पूछा कि वे जनवरी तक कितना कार्य पूरा कर लेंगे। जलनिगम के अधिशासी अधिकारी रुचिन यादव ने बताया कि उन्हें 10 किमी.कार्य करना था लेकिन विलंब से कार्य शुरु होने के कारण केवल तीन किमी ही कार्य हो पाया है। यादव ने बताया कि जनवरी तक जलनिगम तीन किमी कार्य और पूरा कर लेगा। जलनिगम के भुगतान के सम्बंध में मंडलायुक्त ने निरीक्षण टीम द्वारा निरीक्षण करने के बाद भुगतान की बात कही। स्मार्ट रोड का कार्य कर रही आरसीसी को उन्होंने निर्देश दिए कि जो मेन होल बने है उन्हें लेविल में ले लें। आरसीसी ने जनवरी तक फुटपाथ में केबलिंग आदि का कार्य पूरा करने का आश्वासन दिया। जबकि पार्को के सौंदर्यीकरण का कार्य कर रही एजेंसी ने भी जनवरी में 6 पार्को का कार्य पूरा करने की बात कही। मंडलायुक्त ने जनवरी तक शहर में 6 एलईडी स्क्रीन लगाने का कार्य पूर्ण करने के भी निर्देश दिए। इसके अलावा मंडलायुक्त ने विभिन्न परियोजनाओं की जानकारी लेते हुए कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिए कि जिन कार्यो के टेंडर हो चुके हैं। उनके वर्क आॅर्डर जारी कर तुरंत कार्य शुरु करा दें ताकि आचार संहिता लगने पर परियोजनाओं में विलंब न हो। मंडलायुक्त लोकेश एम ने सभी कार्यदायी संस्थाओं और अधिकारियोें को कोरोना की तीसरी लहर से सचेत करते हुए कहा कि वे एहतियात के साथ काम करें और मास्क व सैनेटाइजर आदि का उपयोग करें। उन्होंने कहा कि जिस तेजी से दूसरे प्रदेशों में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, उससे अनुमान है कि उत्तर प्रदेश में भी जनवरी में काफी मामले बढ़ सकते है। बैठक में जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, स्मार्ट सिटी के सीईओ व नगरायुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह, एसडीए के वीसी आशीष कुमार, अपर नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह, निगम के मुख्य अभियंता निर्माण कैलाश सिंह, अधिशासी अभियंता यातायात अमरेंद्र गौतम व कंपनी सैक्रेट्री शंकर तायल आदि मौजूद रहे।
लियाकत बने स्मार्ट सिटी के सीएफओ......स्मार्ट सिटी के सीएफओ का कार्य अब लियाकत अली देखेंगे। कंपनी सैक्रेट्री शंकर तायल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि स्मार्ट सिटी में काफी समय से सीएफओ की नियुक्ति लंबित थी। अब स्मार्ट सिटी बोर्ड ने पीजीआई के सीएफओ लियाकत अली को स्मार्ट सिटी के सीएफओ की जिम्मेदारी सौंपी है। यह दायित्व उन पर अतिरिक्त होगा।