महिलाओं के कल्याण के लिए संचालित योजनाओं पर दें विशेष जोर-अंजू चौधरी

 | 
महिलाओं के कल्याण के लिए संचालित योजनाओं पर दें विशेष जोर-अंजू चौधरी

अवधनामा संवाददाता

कुशीनगर। सरकार द्वारा संचालित विभिन्न लाभपरक योजनाओं में महिला कल्याण, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, महिला उत्थान से संबंधित कार्यक्रमों को संचालन में विशेष रूचि लेते हुए लाभ दिलाने का कार्य करें, तथा अपने कार्य शैली में परिवर्तन लाते हुए अनैतिक कार्यों से परहेज करें। उक्त बातें उप्र राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष श्रीमती अंजू चौधरी द्वारा गुरुवार को जिले में एक दिवसीय दौरे पर मुख्यालय स्थित सर्किट हाउस में विभिन्न विभागों की समीक्षा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि महिला कल्याण से संबंधित जो भी योजनाएं संचालित हैं उनका प्रचार-प्रसार कराते हुए पात्र को लाभ दिलाने सहित न्याय दिलाने का भी कार्य करें। बैठक दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा जनपद में विद्यालयों की स्थिति की जानकारी दी गई,  विद्यालय में पेयजल व्यवस्था, अध्यापकों की स्थिति, शौचालय, बाउंड्रीवाल आदि की जानकारी ली गई एवं आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए गए। सीओ सिटी पंकज वर्मा व महिला थानाध्यक्ष द्वारा सभी थानों में हेल्प डेस्क स्थापित की जानकारी ली गई तथा महिला उत्पीड़न से संबंधित प्राप्त आवेदन पत्रों के निस्तारण के संबंध में जानकारी लेते हुए निर्देशित किया गया कि वे विवेचना में 3 हफ्ते से अधिक का समय न लगाया जाए, तथा जो भी कमियां हैं उसे दुरुस्त कर ली जाए। उन्होंने पुलिस डिपार्टमेंट से सहयोग की अपेक्षा करते हुए कहा कि दहेज उत्पीड़न एवं पारिवारिक विवाद सम्बन्धी म मामलों पर विशेष ध्यान देकर समयान्तर्गत निस्तारण कराना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा दौरान महिला अस्पतालों की स्थिति, साफसफाई, चिकित्सकों की तैनाती, चिकित्सकों द्वारा प्राइवेट प्रैक्टिस, महिला अस्पताल में गार्ड की व्यवस्था आदि मुद्दों पर ध्यान देने की जरूरत पर बल दिया। मेडिकल रिपोर्ट के संबंध में भी जानकारी दी गई। ग्रामीण क्षेत्रों में मरीजों का चेकअप, दवा वितरण की जानकारी लेने सहित जनपद में कोविड से हुई मृत्यु व उनके वच्चों को दिए जाने वाले सरकारी लाभ की भी जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित योजनाओं वृद्धा आश्रम की स्थिति के बारे में समाज कल्याण अधिकारी से ली गई एवं उनके रहने, भोजन आदि के सम्बंध में निर्देश दिए गए। इसी प्रकार राजस्व विभाग में विभिन्न प्रकार के शिकायती आवेदन पत्रों के निस्तारण की स्थिति, इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में समूहों के गठन उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों की भी जानकारी, विकलांग कल्याण विभाग एवं जिला पूर्ति विभाग सहित अन्य विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों में वितरित किये स्मार्ट फोन

महिला आयोग की उपाध्यक्ष श्रीमती अंजू चौधरी गुरुवार को कुशीनगर दौरे पर थी। विकास भवन सभागार मे आयोजित पोषण पंचायत कार्यक्रम के तहत आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों में स्मॉर्टफोन वितरण किया और कहा कि माँ बच्चो की भविष्य निर्मात्री होती है। स्वास्थ्य मनुष्य की सबसे बड़ी धरोहर है। उन्होंने महिलाओ को अपना कार्य स्वयं करने की नसीहत देते हुए गर्भवती महिलाओं को योगाभ्यास और व्यायाम करने की भी व सलाह दी। आयोग की उपाध्यक्ष श्रीमती चौधरी ने कहा कि छह महीने तक के बच्चो को मां का दूध मिलना चाहिए इससे नवजात शिशुओं मे प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। उन्होंने शिशुओं के जन्म के छह माह बाद बच्चे को अनाज खिलाने की सलाह देते हुए कहा कि जागरूकता के लिए पोषण अभियान चलाया गया है। 

सुनी महिलाओं की फरियाद

मिशन शक्ति 0.3 के अंतर्गत महिला जनसुनवाई कलेक्ट्रेट सभागार में की गई। उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष श्रीमती अंजू चौधरी ने सभी मामलों को सुना व उसका उचित निस्तारण हेतु निर्देश दिए। इस मौके पर घरेलू हिंसा, जमीनी विवाद, मारपीट, पारिवरिक विवाद संबंधित समस्याओं को उपाध्यक्ष ने सुना। उनके समक्ष 05 मामले आए इनमें से 02 मामलों का तत्काल निस्तारण कर दिया गया और 3 मामलों को निस्तारित करने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया।