मेहनत करने पर ही धरातल पर दिखेगा शारदा अभियान: बीईओ

बीआरसी मड़ावरा में शिक्षकों को दिया जा रहा है प्रशिक्षण

 | 
मेहनत करने पर ही धरातल पर दिखेगा शारदा अभियान: बीईओ

अवधनामा संवाददाता 

ललितपुर। जनपद ललितपुर के ब्लॉक संसाधन केंद्र मड़ावरा में शारदा प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत डायट प्राचार्य डा.सचिदानंद यादव, बीएसए रामप्रवेश के निर्देशन में खण्ड शिक्षा अधिकारी मड़ावरा रामगोपाल वर्मा की अध्यक्षता में तीन दिवसीय शारदा प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। शारदा प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि बीएसए राम प्रवेश द्वारा सरस्वती मां के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन के साथ किया गया। 

इस अवसर पर मुख्य अतिथि बीएसए राम प्रवेश ने कहा कि शिक्षक अच्छे मन से प्रशिक्षण प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि शारदा अभियान में बच्चों को चिह्नित करने के लिए पूरा प्रयास ठीक स्तर से होना चाहिए। इसके बाद उनका नामांकन कर शैक्षिक स्तर में सुधार लाने पर चर्चा होनी चाहिए। शिक्षक ड्रॉप आउट एवं आउट ऑफ स्कूल बच्चों को चिह्नित कर उनका कक्षा स्तर के अनुसार दाखिला करें। आर्थिक, सामाजिक व शारीरिक समस्याओं के कारण ड्रॉपआउट या आउट ऑफ स्कूल बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा में जोडऩे के लिए काम करने की जरूरत है। इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बीईओ मड़ावरा रामगोपाल वर्मा ने कहा कि शिक्षकों की मेहनत करने पर ही धरातल पर शारदा अभियान दिखेगा। उन्होंने कहा कि यह प्रशिक्षण आरटीई की धारा 38 की उपधारा 4 के तहत प्रावधानों के अंतर्गत दिया जा रहा है जिसमें कक्षा 1-5 तथा कक्षा 6-8 प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्तर में भाषा, गणित, विज्ञान, पर्यावरण, सा. विज्ञान के पाठ्यक्रम तैयार किया गया है। जिसमें 15 दिन बच्चों को मौखिक भाषा की स्वतंत्रता हेतु कार्य करना है अगले 30 दिन पाठ्यक्रम अनुसार कक्षा शिक्षण कार्य किया जायेगा। शारदा प्रशिक्षण में संदर्भदाता शक्ति सिंह, सुरेश कुमार, आशा देवी, हृदेश पांचाल, संतोष कुमार ने प्रशिक्षण देते हुए कहा कि पाठ्यक्रम पढ़ाते समय उद्देश्य, ध्यान न देने योग्य बातें, पूर्वज्ञात, सहायक सामग्री एवं मुख्य रुप से 3-4 गतिविधि आवश्यक है तथा कक्षा शिक्षण के दौरान मूल्यांकन करना। कुछ गतिविधियां जैसे- मैजिक वर्ड, गीत, प्लीज, थैंक्यू, बधाई आदि बताये गये। गणित जीवन पर्यन्त चलने वाला विषय है। प्रशिक्षण में विभिन्न प्रकार की गतिविधि आधारित शिक्षण कार्य योजनाएं सिखाई गईं। शारदा प्रशिक्षण में शिक्षक-शिक्षिकाएं आदि उपस्थित रहे।