फिर खुल गए स्कूल, कम रही बच्चों की उपस्थिति

 | 
फिर खुल गए स्कूल, कम रही बच्चों की उपस्थिति 

अवधनामा संवाददाता 

बाराबंकी (Barabanki)। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आज स्कूलों के द्वार बच्चों के लिए खोल दिए गए। चूंकि शासन की ओर से 50% की उपस्थिति के निर्देश दिये गए है इसलिए आज स्कूलों में संख्या बेहद कम रही। हालांकि स्थिति सामान्य होते ही इनकी संख्या बढ़ सकती है। बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में आज बच्चों का खूब इंतजार हुआ। वहीं तमाम स्कूलों में बच्चों के स्वागत का भी इंतजाम किया गया था। बताते चलें कोरोना महामारी के बारंबार हमले के चलते बच्चों की पढ़ाई सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है। करीब 2 साल का समय होने को है और बच्चे घर पर ही कैद रहे। वही स्कूलों को भी ज्यादातर बंद रहने का निर्देश दिया गया। इस वजह से पढ़ाई को चालू रखने के लिए निजी स्कूलों में ऑनलाइन क्लासेस की व्यवस्था की गई। हालांकि दूसरी लहरा आने पर स्कूल लंबे समय के लिए फिर बंद हो गये। दूसरी लहर के बाद अब स्थितियां सामान्य होने को है। बाजार खुल चुका है। व्यापार चल रहा। सरकारी कार्यालय का कामकाज भी ढर्रे पर आ चुका है। अदालतों में भी शत प्रतिशत काम हो रहा है। एकमात्र स्कूल ही बचे थे, उनको भी 1 सितंबर से खोलने का निर्देश दिया गया था। वहीं यह भी कहा गया कि मात्र 50% यह बच्चों की उपस्थिति रखी जाए व कोविड नियमों का हर हाल में पालन किया जाए। आज स्कूल खुले, निजी व सरकारी क्षेत्र के स्कूलों में बच्चों का इंतजार हुआ। अभिभावकों में अपने पाल्यों को लेकर अभी भी डर छिपा हुआ है। इसका पता स्कूलों में बहुत ही कम उपस्थिति से लगा। स्कूल भेजने के लिए किसी तरह का दबाव प्रबंधन द्वारा नहीं डाला जा सकता, इसलिए उन्हें इंतजार ही करना पड़ा। बड़े बच्चे स्कूलों में आते जाते दिखे। सरकारी स्कूलों में भी टीचरों की उपस्थित रही लेकिन बच्चों की संख्या काफी कम दिखी। माना जाता है कि धीरे-धीरे बच्चों का अधिक संख्या में स्कूलों तक पहुंचना चालू होगा।