सफलता की नींव में शिक्षक की भूमिका महत्वपूर्ण: कुदुसिया

 | 
सफलता की नींव में शिक्षक की भूमिका महत्वपूर्ण: कुदुसिया

अवधनामा संवाददाता

सहारनपुर (Saharanpur)। शिक्षक दिवस पर परचम संस्था के तत्वावधान में आयोजित शैक्षणिक गोष्ठी में पूर्व राष्ट्रपति व शिक्षक डॉ.सर्वपल्ली राधा कृष्ण पल्ली, पहली मुस्लिम शिक्षिका फातमा शेख़, महिलाओं के लिए काम करने वाली प्रथम शिक्षिका ज्योतिबा फुले को भी याद किया गया।

पक्का बाग़ स्थित एक सभागार में आयोजित शैक्षिक गोष्ठी को संबोधित करते हुए संस्था संयोजिका व शिक्षिक डॉ.कुदुसिया अंजुम ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा मानव जीवन का सबसे महत्वपूर्ण विषय है। शिक्षा व्यवस्था में शिक्षक का महत्वपूर्ण स्थान है और शिक्षक मोमबत्ती की तरह जलकर छात्रों के जीवन में प्रकाश लाता है हर किसी की सफलता की नींव में एक शिक्षक की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। नुसरत प्रवीन ने कहा कि बिना गुरु के सत्य और असत्य का ज्ञान नहीं होता है और उचित और अनुचित का भेदभाव भी शिक्षक ही सिखाते हैं। इस अवसर पर उर्दू तालिमी बोर्ड के महासचिव दानिश सिद्दकी ने कहा कि हर छात्र के जीवन में कोई ना कोई रोल मॉडल होता है और शिक्षा से बेहतर कोई रोल मॉडल नहीं होता। खुशबू ने शिक्षकों के सम्मान पर एक सुंदर कविता पढ़ी। इस अवसर पर निगहत, वालिया गुलशन, फरजाना,बुशरा,यूसरा और खुशबू आदि मौजूद रही।