सम्मानित किए गए जूनियर और प्राथमिक विद्यालय के सेवानिवृत्त शिक्षक

 | 
सम्मानित किए गए जूनियर और प्राथमिक विद्यालय के सेवानिवृत्त शिक्षक 

अवधनामा संवाददाता 

बहराइच(Behraich)। आज शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में शिक्षकों को सम्मानित किया गया। इस दौरान शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए शिक्षक राष्ट्र का निर्माता है। जो देश शिक्षकों का सम्मान करेगा वह आगे बढ़ता रहेगा यह बात जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के प्रांतीय मुख्य संरक्षक एवं शिक्षक सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि राधा कृष्ण पाठक ने कही। इस मौके पर कार्यक्रम के अतिथि शिक्षा अधिकारियों ने कहा कि वह अपने शिक्षकों के बताए मार्ग पर चलकर ही निरंतर उन्नति कर रहे हैं। इस मौके पर प्राथमिक और जूनियर विद्यालय से वर्तमान सत्र में सेवानिवृत्त हुए शिक्षकों का सम्मान कर  उन्हें भावभीनी विदाई दी गई। 

शहर के स्टेशन रोड स्थित भानीरामका अधिक भवन में रविवार को प्राथमिक और जूनियर विद्यालय से सेवानिवृत्त होने वाले शिक्षकों के सम्मान समारोह का आयोजन शिक्षक दिवस के अवसर पर हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के प्रांतीय मुख्य संरक्षक राधा कृष्ण पाठक रहे। जबकि विशिष्ट अतिथि वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक विजय शंकर तिवारी एवं खंड शिक्षा अधिकारी राजकिशोर रहे। जबकि अतिथि के रूप में संघ की प्रांतीय उपाध्यक्ष शबनम और संयुक्त मंत्री सिराजुद्दीन न्यूटन उपस्थित रहे। अध्यक्षता जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के अध्यक्ष विद्या विलास पाठक ने की। जबकि संचालन वरिष्ठ शिक्षक भूपेंद्र श्रीवास्तव ने किया। मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन के साथ कार्यक्रम की शुरुआत हुई। शिक्षिकाओं ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के प्रांतीय मुख्य संरक्षक राधा कृष्ण पाठक ने कहा कि शिक्षक कभी सेवानिवृत्त नहीं होता। शिक्षक सदैव समाज का मार्गदर्शन करता है। इसी के चलते शिक्षक को राष्ट्र का निर्माता कहा जाता है। जो देश शिक्षकों का सम्मान करता है वह देश निरंतर प्रगति के पथ पर बढ़ता रहता है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि वित्त एवं लेखाधिकारी विजय शंकर तिवारी ने कहा कि सदैव शिक्षकों का सम्मान करता हूं और उन्हीं के दिखाए मार्ग पर चल रहा हूँ। विशिष्ट अतिथि खंड शिक्षा अधिकारी राजकिशोर ने कहा कि छात्र ही नहीं समाज प्रदेश और देश शिक्षकों के बताए ज्ञान पर ही आगे बढ़ता है। इस अवसर पर सेवानिवृत्त होने वाले प्राथमिक और जूनियर विद्यालय के सभी शिक्षकों को मुख्य एवं विशिष्ट अतिथियों ने अंग वस्त्र, धार्मिक पुस्तक, डायरी- पेन और मिष्ठान देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में मौजूद शिक्षकों से सेवानिवृत्त शिक्षकों के कार्यशैली पर चर्चा करते हैं उनसे प्रेरणा लेने की बात कही। समारोह को प्राथमिक शिक्षक संघ चितौरा के अध्यक्ष संजय कुमार त्रिपाठी, मंत्री विश्वनाथ पाठक, पूर्व मंत्री अतहर अली सिद्दीकी, उपाध्यक्ष समर फिरदौस ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संघ के अध्यक्ष विद्या विलास पाठक ने कहा कि शिक्षक ही अपने विचारों से राष्ट्र का उत्थान करता है। ऐसे में शिक्षकों की अनदेखी उचित नहीं है। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद सभी शिक्षकों व अतिथियों का आभार भी जताया। इस अवसर पर संघ के उपाध्यक्ष अभिमन्यु प्रसाद, कलीम अहमद, अनुज, सुल्तान कौशर, अंजनी पांडेय, नीरज कुमार, संजय कुमार, अमिता श्रीवास्तव, प्रियंका श्रीवास्तव, नमिता, अवनीश कुशवाहा शालिनी श्रीवास्तव, आशुतोष, सुमन रस्तोगी, वंदना त्यागी, श्वेता, रविशेखर आदि मौजूद रहे।

इन शिक्षकों को किया गया सम्मानित।

सम्मान समारोह कार्यक्रम के दौरान सेवानिवृत्त शिक्षक केशव राम, कुसुम कुमारी, छबि लाल शुक्ला, शशिबाला खरे, अस्मतुननिशा, इसरार फातमा, तारा यादव, सीरत फातमा जैदी, सुशील श्रीवास्तव, मलका शहनाज, महताब जहां, शमीम जहां बेगम, आलिया बेगम, बावन प्रसाद मिश्रा और सोहरवा विद्यालय की मलका शहनाज बेगम सम्मानित की गई।