क्रय एजेंसियां धान क्रय संबंधी समस्त तैयारियां समय से पूर्ण करें- डीएम

 | 
क्रय एजेंसियां धान क्रय संबंधी समस्त तैयारियां समय से पूर्ण करें- डीएम
अवधनामा संवाददाता 

अयोध्या (Ayodhya)। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में न्यूनतम समर्थन मूल्य योजनान्तर्गरत धान खरीद में प्रयोग किए जाने वाले खसरे का ऑनलाइन कराए जाने,चावल मिलों के आधुनिकीकरण कराने व राइस फोर्टीफिकेशन करने हेतु ब्लेंडिंग मशीन स्थापित कराए जाने के संबंध में बैठक की। बैठक में जिला खाद्य विपणन अधिकारी ने बताया कि खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी क्रय केंद्रों पर धान विक्रय हेतु कृषकों को विभागीय पोर्टल www.fcs.up.gov.in. पर पंजीयन कराना अनिवार्य होगा। नवीन पंजीयन या पूर्व पंजीयन का नवीनीकरण कृषक स्वयं/जन सेवा केंद्र, इंटरनेट कैफे द्वारा करा सकते हैं। धान खरीद हेतु "कृषक पंजीकरण" आधार नंबर एवं आधार में अंकित मोबाइल नंबर पर भेजे गए ओटीपी को भरने के उपरांत ही होगा। किसानों को बैंक विवरण भरने की आवश्यकता नहीं, धान के मूल्य का भुगतान उनके आधार से लिंक बैंक खाते में किया जाएगा अतः किसान भाई अपने जिस बैंक खाते में भुगतान प्राप्त करना चाहते हैं उसे आधार से लिंक करा लें। इस वर्ष कामन धान का समर्थन मूल्य 1940 रुपए प्रति कुंतल तथा ग्रेड-ए धान का समर्थन मूल्य 1960 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित है।जिलाधिकारी ने सभी कृषक बंधुओं से अनुरोध किया है कि किसान बंधु कृषक पंजीकरण प्रपत्र में अपना वही मोबाइल नंबर अंकित करें जो आधार से लिंक हो यदि किसान भाई आधार से लिंक मोबाइल नंबर वर्तमान में उपयोग नहीं कर रहे हैं तो अपने नजदीकी आधार सेवा केंद्र में जाकर अपना वर्तमान व सही मोबाइल नंबर आधार से लिंक करा लें।  बैठक में चावल मिलों के आधुनिकीकरण कराने तथा राइस फोर्टिफिकेशन करने हेतु ब्लेंडिंग मशीन स्थापित कराने के संबंध में जिला खाद्य विपणन अधिकारी ने बताया कि जनपद में स्थापित चावल मिलों की क्षमता तथा उसमें स्थापित मशीनरी का अद्यतन उपलब्ध तकनीक के माध्यम से आधुनिकीकरण किया जाना है। भारत सरकार द्वारा आई0सी0डी0एस0 तथा एम0डी0एम0 योजना में फोर्टीफाइड चावल का वितरण अनिवार्य कर दिया गया है। इसी के साथ ही 15 अगस्त 2022 के पश्चात एन0एफ0एस0ए0 योजना में भी अनिवार्य रूप से फोर्टीफाइड चावल वितरण किया जाना प्रस्तावित है। चावल मिल के फोर्टिफिकेशन की योजना को लागू करने हेतु प्रत्येक चावल मिल में ब्लेंडिंग मशीन स्थापित किया जाना आवश्यक है क्योंकि तभी चावल मिल निर्धारित अनुपात में एफ0आर0के0 का सामान्य चावल में मिश्रण कर पाएंगी। उन्होंने बताया कि चावल मिलों को कुटाई क्षमता में वृद्धि कराने तथा उनमें चावल के फोर्टीफिकेशन हेतु ब्लेंडिंग मशीन लगवाने हेतु मिल के आधुनिकीकरण कराने में उद्योग विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ दिलाने में सहयोग प्रदान किया जाना है। बैठक में अवगत कराया गया वर्ष 2021-22 में जनपद अयोध्या में 99,349 हेक्टेयर क्षेत्रफल भूमि पर धान की रोपाई/बुवाई की गई है जिसमें 44.28 कुंतल प्रति हेक्टेयर की उत्पादकता की दर से 4,39,917 मीट्रिक टन धान उत्पादकता का अनुमान है।बैठक में जिलाधिकारी श्री झा ने कहा कि उपस्थित सभी क्रय एजेंसियों को धान क्रय से संबंधित सभी तैयारियों को समय से पूर्ण कर लेने के निर्देश दिए जिससे सरकार के मंशानुसार कृषक बंधुओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए सुगमता पूर्वक पारदर्शी ढंग से सभी क्रय केंद्रों पर धान क्रय की व्यवस्था संचालित की जा सके।  बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व/जिला खरीद अधिकारी गोरेलाल शुक्ला, जिला खाद्य विपणन अधिकारी अजीत प्रताप सिंह, उप जिलाधिकारी सदर सुश्री ज्योति सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।