दिव्यांगजनों की समस्याएं दूर करना प्राथमिकता- चन्द्रेश

 | 
दिव्यांगजनों की समस्याएं दूर करना प्राथमिकता- चन्द्रेश

अवधनामा संवाददाता

बाराबंकी(Barabanki)। नवागत जिला दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी चंद्रेश त्रिपाठी का मानना है कि सरकार व शासन जो दिशा निर्देश व जिम्मेदारी देता है, उसका पालन अनुपालन तो अधिकारी कर्मचारी का नैतिक कर्तव्य है ही। उससे इतर भी उसे अपनी क्षमता व योग्यता का प्रयोग प्रशासन के संचालन में करना चाहिए। इसके लाभ समय समय पर सामने आते हैं। 

श्री त्रिपाठी ने गत 30 जुलाई को बतौर जिला दिव्यांगजन अधिकारी बाराबंकी में कार्यभार ग्रहण किया। इससे पूर्व वह इसी पद पर जिला सुल्तानपुर में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। कोरोना काल मे ऑक्सिजन संकट को याद करते हुए वह गंभीर हो गए और कहा कि काफी खराब हालात हो गए थे, वहां के डीएम ने नोडल अधिकारी बना दिया और ऑक्सीजन संकट का रास्ता निकालने के निर्देश दिए। तब अपनी पूरी ताकत लगा कर उस संकट को काफी हद तक दूर किया। उस जिले के अनुभव अब आगे काम आते रहेंगे, मन में सेवाभाव का जज्बा बराबर बना रहता है। उन्होंने बताया कि बाराबंकी बहुत शांत जिला है, यहाँ काम करने की ललक सभी मे है। जो भी समस्याएं हैं, उन्हें दूर किया जाएगा। दिव्यांगजन को योजनाओं का लाभ दिलाना हो या उनकी दिक्कतों को दूर करना, दोनो ही कार्य प्राथमिकता के तौर पर किये जाएंगे।