प्रदेश भर में धरना प्रदर्शन करेगा आउट सोर्सिंग विद्युत कर्मचारी संघ

 | 
प्रदेश भर में धरना प्रदर्शन करेगा आउट सोर्सिंग विद्युत कर्मचारी संघ

अवधनामा संवाददाता

ललितपुर। विभिन्न समस्याओं को लेकर उ.प्र.पावर कारपोरेशन नि.सं.कर्मचारी संघ ने एक ज्ञापन अधीक्षण अभियन्ता को भेजते हुये कार्यवाही की मांग की है। ज्ञापन में उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन प्रबन्धन द्वारा बिजली विभाग के नीतियों का उल्लंघन कर नियमित प्रकार के कार्यों को ठेकेदारों/संविदाकारों के माध्यम से कर्मचारियों की तैनाती कर कार्य कराया जा रहा है। उ.प्र.पावर कार्पोरेशन प्रबन्धन व संविदाकारों के बीच श्रमिक का अनुबन्ध किया जाता हैजबकि कार्य 440 वोल्ट11000 वोल्ट33000 वोल्ट की लाइनोंस्विच गियरों तथा ब्रेकरों पर लिया जाता हैजो घातक प्रकृति का होता है। इन कर्मचारियों से मीटर रीडिंगकम्प्यूटर आपरेटिंगट्रांसफार्मर रिपेयरिंग जैसे तकनीकी कार्य कराया जाता है। जिसके बदले संविदाकारों द्वारा वेतन के रूप में 6000 से रू 9700 रुपये तक दिया जाता हैजिसमें इन कर्मचारियों को अपने परिवार के भरण पोषण एवं बच्चों की शिक्षा दीक्षा में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इस प्रकार पावर कार्पोरेशन प्रबन्धन द्वारा ठेकेदारों / संविदाकारों से किया गया अनुबन्ध न्याय संगत नहीं है। उ.प्र.पावर कार्पोरेशन प्रबन्धन द्वारा एल.टी. नंगी लाइनों के ऊपर से निग्न एच.टी. नंगी लाइनों व निम्न एच.टी.नंगी लाइनों के ऊपर से उच्च एच.टी. नंगी लाइनों का जाल बिछानेमानक के अनुरूप सुरक्षा उपकरण न देनेअधिकारियों द्वारा अकुशल कर्मचारियों से दबाव बनाकर लाइन का कार्य कराने आदि के कारण प्रत्येक वर्ष लगभग 400 से 500 कर्मचारियों की कार्य के दौरान बिजली की चपेट में आने से दुर्घटनायें हो रही हैं जिसमें अधिकांश कर्मचारियों की मृत्यु हो रही है। जिन कर्मचारियों की जान बच जाती हैं वह अपंग होकर दूसरे के सहारे अपना जीवन यापन करने के लिए मजबूर हो रहे हैं क्योंकि उन्हें जीवन यापन भत्ता भी नहीं दिया जाता है। उ प्र पावर कार्पोरेशन प्रबन्धन द्वारा संविदाकारों को प्रति माह ई एस आई के मद में लगभग 350 रूपये प्रति कर्मचारी के हिसाब से भुगतान किया जा रहा है । जिसके बदले में वे आउटसोर्स कर्मचारियों का ई एस आई सी में पंजीकरण कराकर उनके परिवार की फोटो सहित प्रमाणित ई - पहचान पत्र दिया जाना चाहिए । इस ई-पहचान पत्र से ई एस आई सी द्वारा कर्मचारियों सहित उनके पूरे परिवार का मुफ्त में इलाज किया जाता है। किन्तु ठेकेदारों/संविदाकारों द्वारा परिवार की फोटो सहित प्रमाणित ई-पहचान पत्र आज तक नहीं दिया गया। जिससे पावर कार्पोरेशन द्वारा ठेकेदारों/संविदाकारों को इस मद में किये जाने वाले भुगतान का गबन किया जा रहा है। बताया कि संघ द्वारा उ.प्र. पावर कार्पोरेशन प्रबन्धन को पत्र के माध्यम से उक्त समस्याओं के सम्बन्ध में कई बार अवगत कराया गया किन्तु पावर कार्पोरेशन प्रबन्धन द्वारा न तो समस्याओं का समाधान किया गया और न ही संघ से वार्ता कर समस्याओं के समाधान की दिशा में कोई उचित कार्यवाही की गयी। बताया कि समस्याओं के निस्तारण न होने पर आगामी 23 सितम्बर को प्रदेश के भिन्न भिन्न जनपदों में धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया। उन्होंने समस्याओं के निस्तारण की मांग उठायी। ज्ञापन देते समय जिलाध्यक्ष विनय स्वरूप मिश्रामहामंत्री विवेक कुमारअब्दुल हकगंगाराममोहनलालराजकुमार शर्माअंकेश यादवमुलायमसोनू खटीकराजेश कुमारमुकेश विश्वकर्मासुम्मेर कुशवाहासंदीप कुमारधु्रव पाल सिंहदेशराजभरत सिंहहनुमत सिंहपर्वत सिंहवीर सिंहत्रिलोकसुरेन्द्र सिंहबृजेन्द्र सिंहमहेश कुमारअमर सिंहकृष्णकांतचन्द्रप्रकाशविरजूगोलूभगवानदारसदेशराजबलरामभगवानदासदेवेन्द्र सिंहदुर्गसिंहसोनू सिंहराजाबाबूमुलायमदेवेन्द्रराकेशकरन सिंहबृषभान सिंहसत्येन्द्र प्रताप आदि मौजूद रहे।