महोत्सव में चौथे दिन बही भक्ति की बयार ने दिखाया दम

 | 
 महोत्सव में चौथे दिन बही भक्ति की बयार ने दिखाया दम

अवधनामा संवाददाता 


भदरसा - अयोध्या। महात्मा भरत की तपोस्थली नंदीग्राम में आयोजित तेइसवें भरतकुंड महोत्सव के चौथे दिन आयोजित रामलीला में प्रभु श्री राम और उनके अनुज भरत जी के चरित्र से जुड़े विभिन्न प्रसंगों की मोहक प्रस्तुति हुई। इसके उपरांत आज जनपद के कोने कोने के पहलवानों ने अपने दांव पेंच और अपने करतब दिखाए।  इसके उपरांत विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां की गई।  

कार्यक्रम के चौथे दिन आज रविवार को रामलीला में परशुराम लक्ष्मण संवाद, जनपद स्तरीय कुश्ती एवं 21 सौ लोगों द्वारा सामूहिक रूप से हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। अयोध्या के रामलीला के कलाकारों ने विभिन्न प्रसंगों का मोहक चित्रण किया।  दंगल में आज दूसरे दिन स्थानीय पहलवानों का भी बोलबाला रहा। इसके पूर्व महोत्सव की तीसरी सांस्कृतिक संध्या का उद्घाटन अयोध्या जनपद में दीपोत्सव कार्यक्रम का नेतृत्व करने वाले मुख्य अतिथि डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के प्रोफेसर शैलेंद्र वर्मा ने महात्मा के चित्र पर दीप प्रलन और माल्यार्पण कर किया। इसके उपरांत भरतकुंड महोत्सव न्यास के पदाधिकारियों ने उन्हें स्मृति चिन्ह और अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया। इसके उपरांत संस्कृति विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा भेजी गई लखनऊ की कलाकार जाह्नवी पांडेय एंड टीम ने लोकगीत एवं भजनों की प्रस्तुतियां दी। अंबेडकरनगर की कलाकार प्रतिमा यादव एंड टीम द्वारा लोक गीतों की प्रस्तुति और अयोध्या की नव्या द्वारा डांस, महेंद्र कुमार अंबेडकरनगर द्वारा लोकगीतों की विभिन्न प्रस्तुतियां दी गई।  इस दौरान कार्यक्रम का संचालन सुभाष पांडेय और अध्यक्षता परमात्मा दास ने की। इस दौरान विपिनेश पांडेय, अजय सिंह, भोलेंद्र गोस्वामी, रमाकांत द्विवेदी विनय पांडेय, रमाकांत पांडेय,  विनोद पांडेय, न्यास के अध्यक्ष अंजनी कुमार पांडेय, मीडिया प्रभारी राकेश मिश्र, सतीश पांडेय, सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रभारी बृजेन्द्र दूबे, बृजमोहन तिवारी शैलेन्द्र मिश्र, शिवम मिश्र समेत न्यास के पदाधिकारी बड़ी संख्या में क्षेत्रीय लोग मौजूद रहे। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था के लिए चौकी इंचार्ज भदरसा विनय सिंह दल बल और पीएसी के जवानों के साथ मुस्तैद रहे।