स्मार्ट सिटी योजना का कोई भी कार्य बिना बोर्डअनुमति के नहीं होगा: मण्डलायुक्त

 | 
स्मार्ट सिटी योजना का कोई भी कार्य बिना बोर्डअनुमति के नहीं होगा: मण्डलायुक्त

अवधनामा संवाददाता 


सहारनपुर (Saharanpur)। मण्डलायुक्त लोकेश एम0 ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्मार्ट सिटी योजना के अन्तर्गत कोई भी छोटे से छोटा और बडे से बडा कार्य बिना बोर्ड के अनुमोदन के नहीं कराया जायेंगा। उन्होंने कहा कि सभी कार्यों को कराने के लिए स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत गठित बोर्ड के अनुमोदन के बाद ही कार्य शुरू कराये जाए। उन्होंने कहा कि इसके लिए किसी भी प्रोजेक्ट को शुरू करने से पहले बोर्ड में प्रजेन्टेशन देना होगा उसके बाद बोर्ड ऐसे प्रोजेक्ट की उपयोगिता के आधार पर विचार-विमर्श करके यदि सहमति देता है तो ही उस प्रोजेक्ट पर कार्य होगा। उन्होने कहा कि स्मार्ट सिटी के सभी कार्यों में प्रोटोकाल का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित किया जाए। बिना बोर्ड की अनुमति के कार्य शुरू कराये जाने पर मण्डलायुक्त ने नाराजगी व्यक्त की।

लोकेश एम0 आज यहां सर्किट हाउस सभागार में स्मार्ट सिटी की बोर्ड बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होने कहा कि स्मार्ट सिटी योजना के अन्तर्गत जो मशीनें खरीदी गयी है, जब तक उनका निरीक्षण न कर लिया जाए तब तक नयी मशीनें नहीं खरीदी जाएंगी। उन्होने कहा कि मशीनों के निरीक्षण के लिए तत्काल एक तकनीकि टीम गठित की जाए जो जल्द से जल्द निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। यदि रिपोर्ट सकारात्मक पायी जाती है, तो ही अन्य नयी मशीनें खरीदनें की अनुमति दी जाएगी। उन्होने निर्देश दिए कि स्मार्ट सिटी में जो कार्य हुए है, उनका किसी तृतीय पक्ष से निरीक्षण कराकर ही भुगतान किया जाए। उन्होने कहा कि ई-लाईब्रेरी एवं स्मार्ट क्लास रूम के कार्य मंे निविदा धारक अति शीघ्र डिजाईन बनाकर अगली बोर्ड बैठक मंे प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि कार्य में देरी करने वाली कार्यदायी संस्थाओं को भविष्य में कार्य न दिये जाने पर भी विचार किया जायेंगा।

मण्डलायुक्त ने कडे निर्देश देते हुए कहा कि शहर में बनने वाले स्मार्ट रोड में तेजी लाई जाए। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अन्य विभागीय समन्वय स्थापित कर यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कहीं पर भी कार्य का दोहरीकरण जैसी घटना न हो। उन्होने कहा कि दाल मण्डी पुल, सब्जी मण्डी पुल तथा चतरा पुल का प्रजेन्टेशन तैयार कर बैठक में प्रस्तुत करें। साथ ही लोक निर्माण विभाग  के द्वारा बनाये जा रहे पुलों की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करे। उन्होने कहा कि शहर में बनने वाले मल्टीलेवल पार्किंग के लिए सहारनपुर विकास प्राधिकरण एक रिपोर्ट प्रस्तुत करे कि कहां पर पार्किंग बनाने से जनपदवासियों को अधिक लाभ होगा।बैठक में महापौर संजीव वालिया, जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह तथा अन्य कार्यदायी संस्थाओं के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।