सरदार पटेल की जयंती में राष्ट्रीय एकता दिवस एवं संगोष्ठी का हुआ आयोजन

 | 
सरदार पटेल की जयंती में राष्ट्रीय एकता दिवस एवं संगोष्ठी का हुआ आयोजन

अवधनामा संवाददाता 

अतर्रा। लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई संख्या  एकएदो एवं तीन के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय एकता दिवस ध्संगोष्ठी का आयोजन महाविद्यालय के टीटी हाल में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि प्राचार्य डॉ एके श्रीवास्तव ने सरस्वती माँ एवं सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके किया। विशिष्ट अतिथि डॉ केबीराम रहे। 29 अक्टूबर को आयोजित निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली कुमारी खुशबू गुप्ताएद्वितीय स्थान  कुमारी शुभांगी पाण्डेयए तृतीय स्थान कुमारी खुशबू को प्राचार्य ने मेडल पहनाकर सम्मानित किया। छात्रों को देश भक्ति एवं अनेकता में एकता को बनाए रखने का आह्वान किया। संगोष्ठी के तकनीकी सत्र में प्रतिभाग करने वाले छात्र.छात्राओं में से 20 छात्र.छात्राओं ने  सरदार पटेल के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर अपने.अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन करते हुए राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई दो के कार्यक्रम अधिकारी डॉण् सतीश कुमार श्रीवास्तव ने राष्ट्र निर्माण में एनएसएस की भूमिका को रेखांकित किया। इकाई संख्या तीन के कार्यक्रम अधिकारी ध् मुख्य अनुशासन अधिकारी डॉण् विवेक कुमार पाण्डेय ने सरदार पटेल के जीवन पर विस्तृत प्रकाश डाला। समापन समारोह में इकाई एक के कार्यक्रम अधिकारी डॉण् मोहम्मद हलीम खान ने प्रतिभागियों के प्रस्तुतीकरण के विश्लेषण पर प्रकाश डालते हुए सभी गणमान्य अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में डॉण् अजय आर्यए डॉण् अतुल कुमार द्विवेदीए आदि शिक्षक एवं कर्मचारी तथा लगभग 2 सैकड़ा स्वयं सेवक सेविकाओं एवं एनण् सीण् सीण् कैडेट्स ने सक्रिय रूप से प्रतिभाग किया।

वही ब्रह्म विज्ञान इण्टर कॉलेज अतर्रा में भी सरदार बल्लभभाई पटेल जी के जन्म दिन को राष्ट्रीय एकता और अखण्डता दिवस के रूप में मनाया गया। ब्रह्म विज्ञान इ का अतर्रा बांदा में सादे समारोह में पटेल जी की मूर्ति पर पुष्प अर्पित कर श्रृद्धांजलि दी गई। जिन्होंने 565 रियासतों को मिलाकर विश्व में अनूठा उदाहरण पेश किया था। तथा राष्ट्रीय स्वाधीनता संग्राम में किसान हितैषी के रूप में प्रस्तुत हुए।1947से 1950तक भारत के गृहमंत्री एवं उपप्रधानमंत्री रहे। जिनकी याद में गुजरात में 182 फिट की स्टेचू आफ यूनिटी के नाम से लोहे की मूर्ति लगाई गई है। लौह पुरुष के नाम से प्रसिद्ध पटेल जी का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को नादियाड में हुआ तथा 1950 मे मुम्बई में इनका परलोक गमन हुआ। प्रधानाचार्य शिवदत्त त्रिपाठी सहित सभी शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर स्टाफ ने पुष्प अर्पित कर श्रृद्धांजलि दी। कालीचरण बाजपेयीए राजेश कुमारए चेतरामए राजेन्द्र कुमारए सुशील कुमार गर्गए सुरेन्द्र शर्माए शान्ति भूषण यादवए गिरिजेश मिश्रए श्याम निगमए जेपी कोमलए संजय धुरियाए सुरेशए मधु सविताए राममिलन यादवए विश्वनाथ आदि सम्मिलित रहे।