क्लस्टर अनुरूप करें ग्राम विकास अधिकारियों के स्थानान्तरण : मण्डलायुक्त

 | 
अवधनामा संवाददाता 

ललितपुर (Lalitpur)। मण्डलायुक्त/नोडल अधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने अपने भ्रमण कार्यक्रम के तहत विकास खण्ड जखौरा एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय विनयकामाफी का निरीक्षण किया। यहां पर सर्वप्रथम मण्डलायुक्त का गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मान किया गया। इसके उपरान्त उन्होंने ब्लॉक के विजिट रजिस्टर का अवलोकन किया, जिस पर खण्ड विकास अधिकारी ने बताया कि पिछली बार जिलाधिकारी ने विकास खण्ड का निरीक्षण किया था। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जिलाधिकारी प्रत्येक ब्लॉक का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लें। मौके पर यह भी बताया गया कि जनपद में सहायक विकास अधिकारी स.क.के कुल 06 पदों के सापेक्ष 05 पद रिक्त चल रहे हैं, मात्र एक पद पर ही स.वि.अ.तैनात हैं, जो तीन विकास खण्डों का कार्य देख रहे हैं। इस पर मण्डलायुक्त ने बीडीओ को निर्देश दिये कि पद के सापेक्ष स.वि.अ. तैनात न होने पर ग्राम पंचायत अधिकारी को स.वि.अ. का प्रभार दें। साथ ही मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया किया कि जिले एवं ब्लॉक स्तर का मैप तैयार कर क्लस्टर के अनुरुप ग्राम विकास अधिकारियों के स्थानान्तकरण करें। इसके उपरान्त मण्डलायुक्त ने विकास खण्ड के कर्मचारियों प्रेम कुमार खरे एवं रवि गोस्वामी की सेवा पुस्तिका का अवलोकन किया। अवलोकन में पाया गया कि स्थापना लिपिक शातिरा बेगम द्वारा सेवा पुस्तिकाओं को सुव्यवस्थित ढंग से रखा गया है। इस पर मण्डलायुक्त ने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि स्थापना लिपिक के सराहनीय कार्य करने के लिए उन्हें प्रोत्साहन विशेष प्रविष्टि प्रदान करें। निरीक्षण के दौरान उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि जनपद एवं ब्लॉक स्तर के अधिकारी सप्ताह में एक दिन कर्मचारियों की समस्याओं को सुनकर उनका समाधान करायें, सभी अधिकारी इस निर्देश का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करें। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि विकासखण्ड में पंचायती राज से सम्बंधित पुस्तकालय भी स्थापित करायें। यहां पर खण्ड विकास अधिकारी ने यह भी अवगत कराया कि जिला प्रशासन द्वारा शासकीय कार्य हेतु 04 जीप के टेण्डर की सूचना मण्डलायुक्त कार्यालय को भेज दी गई है। मण्डलायुक्त ने खण्ड विकास अधिकारी को यह भी निर्देश दिये कि विकास खण्ड में वित्तीय वर्ष 2021-22 में आवंटित बजट के सापेक्ष अब तक किये गए व्यय की रिपोर्ट उपलब्ध कराये। साथ ही क्षेत्र पंचायत की आय में वृद्धि हेतु शासन द्वारा दिये गए दिशा-निर्देशों पर योजनाबद्ध तरीके से कार्य करें। साथ ही खण्ड विकास अधिकारी सहित ब्लॉक स्तरीय अधिकारी डेली डायरी तैयार करें। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिये कि इस आशय का आदेश जारी करें कि क्षेत्र पंचायत की बैठक में जिला स्तरीय अधिकारी अनिवार्य रुप से प्रतिभाग करें। गौशालाओं की स्थिति के बारे में पूछने पर खण्ड विकास अधिकारी ने बताया कि गौशालाओं में शैड बनाने का कार्य मनरेगा मजदूरों के द्वारा ही किया जाता है। मौके पर मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि इस बात का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाये कि ब्लॉक प्रमुख के पद एवं अधिकार का प्रयोग ब्लॉक प्रमुख ही करेंगे, उनका कोई प्रतिनिधि नहीं। इसी दौरान खण्ड विकास अधिकारी ने यह भी बताया ब्लॉक के 86 ग्रामों में एच.एस.जी. के 86 महिला मेट का चयन किया जाना है, जिसकी प्रक्रिया शीघ्र ही प्रारंभ की जाएगी। इसके उपरान्त मण्डलायुक्त ने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि इस ब्लॉक में प्रत्येक पात्र व्यक्ति का जॉबकार्ड बनाया जाये, साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि कोई भी जॉबकार्डधारक बिना जॉब के न रहे। किसी भी जॉबकार्डधारक का भुगतान अवशेष नहीं रहना चाहिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि मनरेगा के तहत बैंक खाता एवं आधार सम्बंधी गलत जानकारी भरने वालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें। प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा में खण्ड विकास अधिकारी ने बताया कि इस योजना के तहत 1466 लाभार्थियो के सापेक्ष 1463 लाभार्थियों के खातों में प्रथम किस्त प्रेषित की जा चुकी है, इस पर निर्देश दिये गए कि ब्लॉक के गरीब व्यक्तियों को इस योजना का लाभ अवश्य दिलायें, जिससे उनका विकास हो सके। साथ ही विकासखण्ड में सहजन के अधिक से अधिक पौधों का रोपण करायें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि इस विकासखण्ड में क्रियाशील हैण्डपम्पों का सत्यापन कराकर रिपोर्ट उपलब्ध करायें। इसके उपरान्त खण्ड विकास अधिकारी ने यह भी अवगत कराया कि एन.आर.एल.एम. के तहत इस ब्लॉक में 04 डी.एम.ओ. तैनात हैं, जनपद में सर्वाधिक क्रियाशील समूह बालाजी समूह है। विकासखण्ड में स्वयं सहायता समूह द्वारा कैण्टीन भी संचालित की जा रही है। मण्डलायुक्त ने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि इस ब्लॉक में बाबा साहब अम्बेडकर प्रोत्साहन येाजना में प्रत्येक पात्र व्यक्ति का चयन कर योजना का सघन आच्छादन करायें। इसके उपरान्त मण्डलायुक्त ने आईसीडीएस सुपरवाईजर मघुकुमार से उनके कार्यों के सम्बंध में चर्चा की, जिस पर उनके द्वारा बताया गया कि शासन के निर्देशानुसार पोषण वाटिका तैयार की जा रही है। मौके पर सी.डी.पी.ओ. अनुपस्थित पाये गए। मौके पर मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि नवीन आंगनबाड़ी केन्द्रों के निर्माण कार्य की गुणवत्ता की जांच तकनीकि समिति द्वारा करायी जाये। कृषि वि.गोदाम की समीक्षा के दौरान केन्द्र प्रभारी ने बताया कि इस बार 236 लोगों को 44 कु.(11640 रु0) का बीज वितरित किया गया है। इसके उपरान्त आयुक्त द्वारा सिद्धबाबा समूह राखपंचमपुर के हस्त निर्मित उत्पादों का अवलोकन किया गया, साथ ही उनके कार्य की सराहना करते हुए उत्साहवद्र्धन किया। इसके साथ ही उन्होंने समूह की बी.सी.सखी प्रेमादेवी को 5 पॉश मशीन भी वितरित की गई। इसके उपरान्त मण्डलायुक्त ने उच्च प्राथमिक विद्यालय विनयकामाफी का निरीक्षण किया। यहां पर शिक्षक हरीशराम द्वारा अवगत कराया गया कि विद्यालय में 03 अध्यापक तैनात है, यहां पर 102 बच्चों का छात्रांकन है। आज विद्यालय में 40 बच्चे उपस्थित हुये हैं। इस पर मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि विद्यालय में नियमित रुप से साफ-सफाई करायें, साथ ही शिक्षक गंभीर होकर बच्चों को पढ़ायें। निरीक्षण में शिक्षिका साधना अनुपस्थित पायी गईं। बच्चों से पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि आज दोपहर को मध्यान्ह भोजन में रोटी और आलू-रौंसा-टमाटर की सब्जी दी गई है। विद्यालय का निरीक्षण करने पर विद्यालय के चारो तरफ बनी सुरक्षा दीवार टूटी हुई पायी गई, जिसके सम्बंध में बताया गया कि दीवार के पुनर्निमाण के लिए पत्र भेजा गया है। इस पर ग्राम प्रधान को निर्देशित किया गया कि स्कूल की क्षतिग्रस्त दीवार ठीक करायें। इस अवसर पर जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पाण्डेय, खण्ड विकास अधिकारी जखौरा सौरभ कुमार सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।