राजनीति में भागीदारी के लिए एकजुट हों सजातीय बंधु : राकेश सेन

सेन सविता समाज की जनसभा का कचरोंदाकलां में हुआ आयोजन

 | 
राजनीति में भागीदारी के लिए एकजुट हों सजातीय बंधु : राकेश सेन

अवधनामा संवाददाता

ललितपुर। स्वामी विवेकानंद डिग्री कॉलेज कचरोंदाकलां में सेन सविता समाज की जनसभा आयोजित की गई। प्रदेश की सत्ता में सेन सविता समाज की भागीदारी हो यह बात बुन्देलखण्ड सेन सविता समाज एकता समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश सेन ने अपने सामाजिक जनसभा में कही। उन्होंने कहा कि राजनीति में सेन समाज का प्रमुख योगदान है, लेकिन राजनैतिक दलों द्वारा वर्तमान राजनीति में अन्य जातिवर्ग के लोगों को जितनी हिस्सेदारी सरकार में दी जा रही है, उतनी सेन समाज को नहीं दी जा ही है। यदि वर्तमान सरकार बुंदेलखंड की सेन समाज के प्रमुख नेतृत्व को सरकार में विधान परिषद, विधानसभा चुनाव के दौरान अवसर प्रदान करती है तो सम्पूर्ण बुंदेलखंड की नाई समाज एवं प्रदेश की समाज भारतीय जनता पार्टी के साथ सम्पूर्ण सहयोग देने का काम करेगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश सेन ने कहा समाज के लोगों को एकजुट होकर अपनी ताकत दिखानी चाहिए, जिससे देश व प्रदेश की सरकारें सेन समाज को राजनीति में हिस्सेदारी दे। राज्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हर वर्ग के विकास के लिए कार्य करती है, आगे भी करेगी, सेन समाज की राजनीति में ही नहीं सरकार में भी हिस्सेदारी रहेगी। सेन समाज को भी उचित स्थान दिया जायेगा। उन्होंने मौजूद जन समूह को अस्वस्त किया है कि वह पार्टी के आला नेताओं तक उनकी आवाज पहुंचायेंगे। साथ ही आगामी विधान परिषद व विधानसभा चुनाव के दौरान सेन समाज के लोगों को विशेष स्थान दिया जायेगा। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष कैलाश निरंजन, राजू सेन कचरौंदा, अध्यक्ष सेन समाज लखन लाल सविता, रामप्रसाद सेन, सोनू मगनलाल सेन, महादेव सेन, चुन्नीलाल सेन, भोगीराम सेन, नरेंद्र सेन, मोतीलाल सेन, सुखनंदन सेन, बालकृष्ण सेन, रामस्वरूप सेन, प्रकाश सेन, मुनालाल सेन, हीरालाल सेन, छक्की लाल सेन, कैलाश नारायण, प्रदीप सेन, भगवत नारायण सेन, ब्रजेंद्र सेन, रतनलाल सेन, रानू सेन, सरयूप्रसाद, सुनील सेन, कमलेश सेन, सनत सेन, राकेश सेन, मनोज सेन, मयंक सेन, हरिओम सेन, दौलतराम सेन, शिवचरन सेन, सोहनलाल सेन, अजय सेन, राजेश सेन, मगनलाल सेन, दीपक सेन, राजेश सेन तालबपुरा, राजकुमार सेन, धर्मदास सेन, सतेंद्र सेन, कैलाश सेन, मूलचंद सेन, सौरभ सेन, कैलाश सेन, पप्पू सेन मौजूद रहे, सभा का संचालन सुमत सेन ने किया।