स्वयं में एक आंदोलन थे स्वर्गीय कल्याण सिंह- साकेन्द्र

अवधनामा संवाददाता फतेहपुर बाराबंकी(Fatehpur barabanki)। कुशल रामभक्त, एवं भारत माता के सच्चे सपूत हिन्दुत्व राजनीति के जननायक उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह द्वारा जो लोक जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ आम जनमानस को प्रदान किया गया, उसे कभी भुलाया नही जा सकता है। यह विचार विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण
 | 

स्वयं में एक आंदोलन थे स्वर्गीय कल्याण सिंह- साकेन्द्र

अवधनामा संवाददाता

फतेहपुर बाराबंकी(Fatehpur barabanki)। कुशल रामभक्त, एवं भारत माता के सच्चे सपूत हिन्दुत्व राजनीति के जननायक उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह द्वारा जो लोक जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ आम जनमानस को प्रदान किया गया, उसे कभी भुलाया नही जा सकता है।
यह विचार विधायक साकेन्द्र प्रताप वर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन पर नगर से सरस्वती शिशू मन्दिर इण्टर कॉलेज मे आयोजित एक श्रद्धांजलि कार्यक्रम मे व्यक्त किये। उन्होने कहा कि एक जननेता के रूप में कल्याण सिंह ने जो आम जनता के दिलों मे स्थान बनाया था उसे हमेशा याद रखा जायेगा। उन्होने गुण्डो से निपटने के लिए जहां एसटीएफ का गठन किया था वहीं किसानों के लिए किसान बही योजना लाकर किसानों को सम्मान देने का काम किया। सन् 1967 में पहली बार कल्याण सिंह विधायक बने और 10 बार निरन्तर विधायक रहे। उत्तर प्रदेश के दो बार मुख्यमंत्री रहने का उन्हे सौभाग्य मिला। उन्होने अयोध्या को लेकर सम्पूर्ण जिम्मेदारी लेते हुए त्यागपत्र देकर एक दृढनिश्चयी होने का परिचय दिया। समारोह में विभिन्न तबको एवं संघटनों सें जुडे अधिवक्ता हरीश मौर्य, राजीव नयन तिवारी, विपिन सिंह राठौर, राजेश जायसवाल, ब्रम्ह प्रकाश दीक्षित, गंगा प्रसाद तिवारी, श्रियंक यादव, रंगनाथ त्रिपाठी, अनुपम निगम, रवीन्द्र वर्मा, देवेन्द्र कुमार शुक्ल, प्रदीप रावत ने सम्बोधित करते हुए अपनी श्रद्धासुमन अर्पित किये। इस मौके पर शीलरत्न मिहिर, हरिनाम सिंह वर्मा एडवोकेट, डा0 अन्जू चन्द्रा, अन्नू सिंह, विनोद मिश्रा, पिन्टू सिंह, प्रधान संघ महामंत्री करूणा शंकर शुक्ला, अशोक यादव, जयपाल रावत, गिरधर गोपाल गुप्ता, अनंत कुमार गुप्ता आदि भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।