कैबिनेक की बैठक में जनपद की हवाई पट्टी को मिली मंजूरी

जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री का आभार प्रकट करते हुए जनपदवासियों को दी शुभकामनाएं

 | 
कैबिनेक की बैठक में जनपद की हवाई पट्टी को मिली मंजूरी

अवधनामा संवाददाता (अजय श्रीवास्तव)

 

ललितपुर (Lalitpur)| उत्तर प्रदेश कैबिनेट बैठक हुईजिनमें मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट द्वारा ललितपुर एयरपोर्ट निर्माण को मंजूरी दी गई हैजिस पर जल्द ही एयरपोर्ट को विकसित करने का निर्माण कार्य किया जाएगा।

बैठक के बाद कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि ललितपुर में स्थापित किए जा रहे बल्क ड्रग पार्क और बुंदेलखंड में विकसित किए जा रहे डिफेंस कॉरिडोर के मद्देनजर सरकार ने यह फैसला किया है। उन्होंने बताया कि  "पिछले सालहमने घोषणा की थी कि हम ललितपुर जिले में एक बल्क ड्रग पार्क और बुंदेलखंड में एक रक्षा गलियारा विकसित कर रहे हैं। झांसी में एक एयरपोर्ट हैलेकिन यह एयरफोर्स का है। ड्रग पार्क और डिफेंस कॉरिडोर की वजह से बड़े एयरपोर्ट की जरूरत पड़ेगी। ललितपुर में एयरपोर्ट की स्थापना के लिए यहां के दो गावो की कुल 91.773 हेक्टेयर भूमि खरीदी जाएगी। जमीन की कुल लागत 86.65 करोड़ रुपये है। जमीन खरीदने पर 76.75 लाख रुपये की स्टांप ड्यूटी को भी कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। यहां पर रक्षा मंत्रालय की 12.79 हेक्टेयर जमीन है जिसे राज्य सरकार परियोजना के लिए लेगी और बदले में रक्षा मंत्रालय को ग्राम समाज की उतनी ही जमीन देगी।

उन्होंने बताया कि पहले चरण में हम जल्द ही छोटे विमानों की लैंडिंग शुरू करेंगे। आज तीन चीजों पर मंजूरी पर चर्चा हुई।उन्होंने कहा कि दो गांवों में कुल 86.65 करोड़ रुपये की लागत से 91.773 हेक्टेयर जमीन खरीदना था। तीसरा रक्षा मंत्रालय से संबंधित भूमि का आदान-प्रदान करना और उन्हें ग्राम सभा से संबंधित दूसरी भूमि की समान राशि देना है।

कैबिनेट बैठक में ललितपुर में एयरपोर्ट बनाने की मंजूरी मिलने पर नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने कहा कि बुंदेलखंड के विकास के लिए सरकार ने महत्त्वपूर्ण निर्णय लिया है। जनपद ललितपुर में प्रदेश सरकार द्वारा 'बल्क ड्रग पार्क की स्थापना हेतु प्रयास किया जा रहा है तथा बुन्देलखण्ड क्षेत्र में डिफेन्स कॉरिडोर का निर्माण भी तीव्र गति से हो रहा है। इन योजनाओं के परिप्रेक्ष्य में जनपद ललितपुर में हवाई अड्डे का विकास अत्यन्त लाभप्रद और उपयोगी सिद्ध होगा। जनपद ललितपुर में हवाई अड्डा विकसित हो जाने से बुन्देलखण्ड क्षेत्र का आर्थिक विकास सुनिश्चित हो सकेगा। साथ हीउत्तर प्रदेश के साथ-साथ मध्य प्रदेश राज्य व अन्य समीपवर्ती राज्यों के नागरिकों को हवाई सुविधा प्राप्त हो सकेगी।

जनपद ललितपुर स्थित हवाई पट्टी को हवाई अड्डे के रूप में विकसित किये जाने के सम्बन्ध में जानकारी दी गई कि मंत्रिपरिषद ने जनपद ललितपुर स्थित हवाई पट्टी को भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण की प्रीफीजिबिलिटी स्टडी रिपोर्ट के अनुसार प्रथम चरण में आई0एफ0आरकण्डीशन (ए०एल०टी०-2) में ए०टी०आर०- 72 प्रकार के वायुयानों के लिए विकसित किए जाने के निमित्त 91.773 है0 (226.77 एकड़) निजी भूमि को क्रय किये जाने हेतु कुल अनुमानित लागत लगभग 77,85,78,740 रुपये तथा प्रस्तावित भूमि पर स्थित परिसम्पत्तियों की मूल्यांकित धनराशि 8,79,28,008 रुपये अर्थात कुल धनराशि 86,65,06, 748 रुपये पर प्रशासकीय एवं वित्तीय अनुमोदन के साथ-साथ ग्राम समाज एवं विभिन्न शासकीय विभागों की भूमि को निःशुल्क रूप में नागरिक उड्डयन विभाग को हस्तान्तरित किये जाने के प्रस्ताव को अनुमोदन प्रदान किया है।  इसके अतिरिक्तनिजी भूमि के क्रय में निहित स्टाम्प शुल्क एवं निबन्धन शुल्क की कुल धनराशि 76,75,880 रुपये के भुगतान हेतु प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृतिरक्षा विभाग की भूमि को समान मूल्य की भूमि से विनिमय द्वारा प्राप्त किये जाने तथा परियोजना के सम्बन्ध में भविष्य में यथावश्यकता निर्णय लेने हेतु मुख्यमंत्री जी को अधिकृत किये जाने के प्रस्ताव पर अनुमोदन प्रदान किया गया है। जिस पर आज कैबिनेट बैठक में स्वीकृति प्रदान की गई।  

जिलाधिकारी श्री अन्नावि दिनेशकुमार का वर्जन

जनपद ललितपुर में हवाई पट्टी के निर्माण की स्वीकृति के लिए मैं माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी का आभार प्रकट करता हूं हवाई पट्टी के निर्माण से जनपद ललितपुर के विकास को नए पंख लगेंगे"