प्रधानमंत्री स्व० चौधरी चरण सिंह119 जयन्ती के अवसर पर आयोजित हुआ किसान सम्मान समारोह

 | 
प्रधानमंत्री स्व० चौधरी चरण सिंह119 जयन्ती के अवसर पर  आयोजित हुआ किसान सम्मान समारोह

अवधनामा संवाददाता 

अयोध्या । जिलाधिकारी नितीश कुमार ने भारत के पांचवें प्रधानमंत्री स्व० चौधरी चरण सिंह जी के 119 जयन्ती के अवसर पर कृषि विकास केन्द्र मसौधा में आयोजित किसान सम्मान समारोह में जनपद के कृषि क्षेेत्र यथा-पशुपालन, उद्यान, मत्स्य, बागवानी आदि में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले 55 से अधिक प्रगतिशील कृषकों को अंगवस्त्र, प्रशस्ति पत्र व डी0बी0टी0 के माध्यम से पुरस्कार राशि देकर सम्मानित करते हुये और बेहतर कार्य करने हेतु प्रोत्साहित किया। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर कृषकों से फसल-चक्र अपानाकर मृदा की उर्वरक शक्ति को बढ़ाने का अहवान किया। उन्होंने उप कृषि निदेशक को कृषि एव खेती बारी से जुड़ी साहित्यों कृषि से जुडी योजनाओं के पम्पलेट को जनपद के समस्त ग्राम पंचायतों, मिनी सचिवालयो पर रखकर बटवाने तथा रोस्टरवार कृषि विभाग के कार्मिकों की ड्यूटी लगाकर आधुनिक कृषि व योजनाओं की  कृषकों को जानकारी देने के निर्देश दिये। उन्होंने मिनी सचिवालयों पर कृषि गोष्टी व किसान पाठशाला का भी नियमित आयोजन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। 

जिलाधिकारी श्री नितीश कुमार एवं मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती अनिता यादव ने संयुक्त रूप से चैधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्यार्पण कर किया। किसान सम्मान दिवस के अवसर पर आयोजित कृषि गोष्ठी में किसानों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि चैधरी चरण सिंह ने कृषि उत्पाद बाजार विधायक लाकर कृषको के हित में जो कार्य किया भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने स्व० चैधरी चरण सिंह जी के जीवन परिचय के बारे में बताते हुए कहा चैधरी साहब ने अपना संपूर्ण जीवन भारतीयता व ग्रामीण प्रवेश की मर्यादा में जिया। उन्होंने कहां कि हमारे विश्वविद्यालय के वैैज्ञानिक अपने शोध को प्रयोगशाला से निकाल कर कृषक के खेतों तक पहुँचते हुए उनकी खेती बारी की समस्या से रूबरू होकर उसका निस्तारण करे। पाली हाउस में बिना सीजन के फल सब्जी फूल की खेती करके अपनी आय में वृद्धि कर सकते हैं। कृषि से संबंधित विभिन्न साइटें एवं हेल्पलाइन पर अपनी समस्याओं का निदान पा सकते हैं किसान दूसरे राज्यों में भ्रमण कर वहां के प्रगतिशील कृषकों द्वारा उन्नत खेती के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। अपने ग्राम सभा के अपने आसपास के   कृषि विभाग के एटीएम बीटीएम एवं प्राविधिक सहायकों के माध्यम से भी जानकारी एवं सरकारी योजनाओं कृषि से संबंधित जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं। सरकार के द्वारा मिनी सचिवालय बनाकर स्वायत्तशासी व्यवस्था लागू करने के लिए प्रयास किया जा रहा है, जल्दी ही ग्राम पंचायत भवन में कंप्यूटर इंटरनेट लगाकर किसानों के ऑर्गेनिक खेती समेकित समेकित खेती एवं कृषि संबंधित सभी योजनाओं के फार्म को भरना उपरोक्त स्थान पर ही प्रशिक्षण के माध्यम से किसानों को जागरूक करना मिनी सचिवालय का कार्य पंचायत भवन पर किया जाएगा। ऑर्गेनिक खेती के बारे में किसान धीरे-धीरे थोड़े एरिया में करके सीखने का प्रयास करें सबसे बड़ा लाभ पॉलीहाउस में छोटे एरिया में कम लागत में अधिक उत्पादन प्राप्त करने के लिए पाली हाउस के द्वारा उत्पादित फल फूल बिना सीजन के सब्जियां को संरक्षण करने में भंडारण की व्यवस्था उचित भंडारण व्यवस्था अपनाएं किसान अपनी फसल तैयार करके मार्केटिंग पर भी विशेष ध्यान दें। जब किसानों के खेत में फसल तैयार होती है तो बिचैलिए ज्यादा एक्टिव हो कर तुरंत कम दाम देकर फसलों को खरीदते हैं, जिससे किसानों को उचित लाभ नहीं मिल पाता भंडारण व्यवस्था यह एक ऐसी योजना है जिसमें किसान अपने आय का भरपूर लाभ प्राप्त कर सकता है। भंडारण की व्यवस्था हो पशुपालन मत्स्य पालन पशु शेड की योजना समस्त जानकारी हेल्पलाइन पर भी प्राप्त करें किसान भाई आज के दिन यह सम्मान अपने घर की महिलाओं को समर्पित करें क्योंकि आज के समय में घर की गृहणी घर का कार्य निपटाने के बाद आधे से ज्यादा मदद पुरुषों की खेती बाड़ी में कर रही हैं असली सम्मान उन महिलाओं का भी होना चाहिए, साथ ही ऐसा करने से परिवार में सुख समृद्धि भी प्राप्त होगी। किसान अपनी फसल बेचने में जल्दी ना करें जल्दी बाजी में फसल बेचने में बिचैलियों को ही लाभ होता है। जबकि किसानों को कम आय प्राप्त होती है भंडारण योजना से आप जुड़े रहें अगल-बगल गांव में संपर्क करते रहें प्रगतिशील कृषकों के साथ बैठक कर योजना बनाएं और अपना उत्पाद भंडारण करके समय रहते उचित मूल्य प्राप्त करें पंचायत भवनों में सभा गीता करें सरकार के द्वारा भविष्य में जल्द ही। पंचायत भवनों में पुस्तकालय कंप्यूटर प्रशिक्षण समस्त सुविधाओं से लैस किया जाएगा। पंचायत भवन के पंचायत सहायक की मदद से समस्त योजनाओं का लाभ लें साथ ही समस्त किसानों से अनुरोध है कि वह अपने आसपास अपने अधिकारियों कर्मचारियों के प्रति प्रेम भाव से जानकारी प्राप्त करें और लाभ लें। 

मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती अनिता यादव ने कार्यक्रम मे कहां कि चैधरी चरण सिंह साहब ने यह सिद्ध कर दिया कि किसान का बेटा भी किसी बडे पद पर जा सकता है। आज हमारे देश की कृषि और किसान दोनों ही प्रगतिशील है इसमे सबसे बडा योग्यदान चैधरी साहब का है। उन्होंने सभी सम्मानित कृषकों को बधाई देते हुए कहां सभी कृषक वैज्ञानिक विधि से खेती कर लाभ ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में सम्मानित किए गए किसानों को प्रथम पुरस्कार के रूप में 7000 व द्वितीय पुरस्कार के रूप में 5000 कृषि विभाग की तरफ से किसको के खाते में भेजा जायेगा। इनके साथ सभी ब्लाक मुख्यालयों पर किसान सम्मान दिवस का आयोजन कर विभाग 55 कृषकों को दो हजार रुपये व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया हैं।

  कार्यक्रम का संचालन करते हुए कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी डॉ शशिकांत ने कहा चौधरी साहब मुख्यमंत्री, गृहमंत्री व प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए सदैव किसानों के हित की ही बात की। इस दौरान फसल उत्पान क्षेत्रो मे सरसो के लिए प्रथम पुरस्कार रवीन्द्र प्रताप व द्वितीय पुरस्कार छंगू प्रसाद वर्मा को दिया गया द्य वहीं गेहूं के  प्रथम पुरस्कार सुरेश चन्द्र व द्वितीय पुरस्कार मोहित वर्मा, उर्द के लिए प्रथम पुरस्कार रमेश कुमार व द्वितीय पुरस्कार आत्म प्रकाश सिंह तथा धान पैदावार के लिए प्रथम पुरस्कार रमेश चन्द्र यादव व द्वितीय पुरस्कार नरायणदत्त मौर्या को दिया गया पशुपालन के क्षेत्र में डेयरी व्यवसाय के लिए प्रथम पुरस्कार जय स्कन्द द्वितीय पुरस्कार केयर सिंह यादव को मिला द्य कुक्कुट पालन के लिए मो.सुहीम खान को प्रथम व मोहम्मद नैयरालम को द्वितीय, व्यवसाई पशुपालन मे देवी प्रसाद पाल को प्रथम पुरस्कार व सुकई पाल को द्वितीय, हरा चारा के लिए प्रथम पुरस्कार कुसुम देवी  व द्वितीय पुरस्कार आलोक मौर्य को दिया गयाउद्यान व औद्योगिक क्षेत्र में सब्जी उत्पादन के लिए प्रथम पुरस्कार सीताराम मौर्या व द्वितीय पुरस्कार दलजीत वर्मा को मिला द्य फलोत्पादन के लिए प्रथम अजय कुमार वर्मा व द्वितीय सीताराम यादव, मसाला खेती के लिए प्रथम हरिश्चन्द्र चैरसिया व द्वितीय उमानाथ शुक्ला, लधु सिंचाई  के लिए संदीप कुमार प्रथम  व पुष्प उत्पादन (गेंदा) के लिए भीखन को द्वितीय पुरस्कार  दिया गया  मत्स्य पालन के क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार मनीश प्रताप सिंह, भानू प्रताप सिंह, रजनीश कश्यप,दयावती व  द्वितीय पुरस्कार शिवप्रसाद,सन्तराम,ओम नाथ सिंह, नीता देवी को दिया गया द्यजनपद मे गन्ना उत्पादन के लिए  मसौधा ब्लाक के मधुपुर निवासी संजय वर्मा ने प्रथम स्थान ग्रहण कर सम्मान प्राप्त किया । कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केंद्र मसौधा के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ शशिकांत यादव व शस्य वैज्ञानिक पंकज कुमार सिंह को फसल अवशेष प्रबंधन व कृषि विशेषज्ञ के रूप में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए कृषि विभाग द्वारा सम्मानित किया गया । उक्त अवसर पर कृषि विज्ञान केन्द्र, कृषि विभाग, उद्यान, पशुपालन, आदि सम्बन्धित विभागों के अधिकारी प्रतिनिधि तथा किसान एवं मीडिया साथी उपस्थित रहे।