सालाना उर्स पर हुई इलाही शहीद बाबा की चादरपोशी

 | 
सालाना उर्स पर हुई इलाही शहीद बाबा की चादरपोशी

अवधनामा संवाददाता

गोसाईगंज - अयोध्या(Gosaiganj Ayodhya)। स्थानीय पश्चिमी रेलवे क्रॉसिंग के पास स्थित इलाही शहीद बाबा का दो दिवसीय सालाना उर्स मनाया गया। इस मौके पर इलाही शहीद बाबा मजार के अध्यक्ष इकबाल हुसैन ने बताया कि आयोजित दो दिनी प्रोग्राम के पहले दिन कूल की रस्मअदायगी की गई तथा चादरपोशी कर अमन की दुआएं मांगी गईं। इस दौरान शहीद बाबा के मजार स्थल को मजहबी तरीके से साफ-सफाई कर कूल की रस्म पूरी की गई। इसके पश्चात अकिदमंदों द्वारा चादर निकाली गई। चादर के साथ गोसाईगंज कस्बे का भ्रमण करते हुए देर शाम अकिदतमंद मजार परिसर में पहुंचे। इसके बाद मजहबी परंपरा के मुताबिक चादरपोशी की गई। वही भारी संख्या में लोगों ने मन्नतें मांगीं और फातेहा पढ़ा। हर वर्ष उर्स में अकीदतमंदों की भीड़ बढ़ती जा रही है। इसके भारी संख्या में हिंदू और मुसलमानों के शिरकत करने से यह गोसाईगंज की गंगा जमुनी तहजीब का मरकज बना हुआ है। बाबा के मजार पर एक ओर जहां भारी संख्या में मुसलिमों की भागीदारी होती है तो हिंदू आस्थावानों की गिनती भी कम नहीं होती। इस मौके पर समाजसेवी हनुमान सोनी ने इलाही शहीद बाबा के मजार पर चादर पोसी कर माथा टेका और नगर में अमन-चैन के साथ कोरोना तीसरा लहर डेल्टा ना आये इसके लिए मजार पर मन्नते मांगी।

इस क्रम में अन्य रस्में भी की गईं। फिर रात को नात, मिलाद व तकरीर का आयोजन किया गया। उर्स मेला के दूसरे दिन वुद्धवार को भी कई रस्म अदायगी हुई। इसके पश्चात रात को आपसी कौवाली का एक घंटा का प्रोग्राम चला क्योंकि कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन भी करना था। सालाना उर्स के मौके पर गैर मजहबी लोगों की भी भीड़ जुटी थी। तकरीर में कहा गया कि बाबा के दरबार से कोई खाली हाथ नहीं लौटता है। श्रद्धा के साथ मांगी गई हर मुरादें बाबा पूरी करते हैं। उर्स को देखते हुए वहां मेला का नजारा हो गया है। दूर-दराज से पहुंचे व्यवसायी अस्थाई दुकानें सजा दिए हैं। इससे इलाही शहीद बाबा के मजार स्थल पर मेला का नजारा हो गया है। इस दौरान मेला अध्यक्ष इकबाल हुसैन, शमीम कानपुरी, इश्तियाक अहमद, मोहम्मद वसीम कुरेशी, तनवीर अरशद उर्फ राजू, अशरफ उल्लाह, ननकू भाई फल,  निहाल कुरैशी, अहमद कुरैशी  मुनीर हसन तवाक्कल हुसैन रमजान राइन छेदी राइन आदि लोग उपस्थित थे।