मृतक के परिवार को इंसाफ न मिला तो लखनऊ से होगा प्रदर्शन शुरू :यासूब

 | 
मृतक के परिवार को इंसाफ न मिला तो लखनऊ से होगा प्रदर्शन शुरू :यासूब

एच एफ ख़ान : देवबंद क्षेत्र के थीतकी गांव में पुलिस छापामारी के दौरान गोली लगने से हुई शिया समुदाय के व्यक्ति की मौत के मामले में शिया धर्मगुरु ने कड़ा ब्यान जारी कर योगी सरकार से घटना की निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग की है। साथ ही मृतक परिवार को न्याय न मिलने पर राजधानी लखनऊ से धरना प्रदर्शन की शुरुआत करने की चेतावनी दी है।

गत 5 सितंबर की रात पुलिस ने गोकशी की सूचना पर थीतकी गांव के जंगल में छापामारी की थी। इस दौरान जीशान पैर में गोली लगने से घायल हो गया था, जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई थी। पुलिस का कहना था कि भागते समय स्वयं का तमंचा चलने से जीशान की मौत हुई है। इस मामले में मृतक जीशान की पत्नी ने एसएसपी को तहरीर देकर तीन उपनिरीक्षकों सहित 13 पुलिसकर्मियों पर पति की हत्या करने का आरोप लगाया था। इतना ही नहीं मृतक जीशान के चचेरे भाई सपा शासन में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री रहे सैयद ईसा रजा इस मामले को लखनऊ तक ले गए थे। जिसके चलते इस प्रकरण की जांच क्राइम ब्रांच कर रही है। इस मामले में अब शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव मिर्जा मोहम्मद मौलाना यासूब अब्बास ने बयान दिया है। इंटरनेट मीडिया पर जारी वीडियो बयान में मौलाना अब्बास ने कहा कि 5 सितम्बर की रात में गांव थीतकी निवासी जीशान हैदर अपने घर में सो रहा था। पुलिस उसे घर से बुलाकर अपने साथ ले गई थी। जिसके कुछ देर बाद ही जीशान की मौत की सूचना आई। कहा कि गोकशी के नाम पर पुलिस द्वारा जीशान की हत्या की गई है, जो बेहद निदनीय है। कहा कि गोरखपुर में व्यापारी मनीष गुप्ता की हत्या के मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता दी और आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ। लेकिन देवबंद में हुए जीशान हत्याकांड की कोई सुध नहीं ली गई है। कहा कि अगर जीशान हैदर के मामले में कार्रवाई करते हुए मृतक परिवार को इंसाफ न दिया गया तो तो लखनऊ और सहारनपुर सहित कई राज्यों में धरना प्रदर्शन किया जाएगा।