माननीयों, अधिकारियों ने सजीव देखा पूर्वांचल एक्सप्रेस वे लोकार्पण कार्यक्रम

 | 
माननीयों, अधिकारियों ने सजीव देखा पूर्वांचल एक्सप्रेस वे लोकार्पण कार्यक्रम

अवधनामा संवाददाता

बाराबंकी। सांसद उपेन्द्र सिंह रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष राजरानी रावत, विधायक हैदरगढ़ बैजराथ रावत, जिलाधिकारी डाॅ0 आदर्श सिंह तथा मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती एकता सिंह की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट स्थित लोकसभागार में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन का सजीव प्रसारण देखा गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया। करीब 341 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेस-वे पूर्वी और पश्चिमी यूपी को जोड़ेगा। एक्सप्रेस-वे लखनऊ के चांद सराय से शुरू होगा और गाजीपुर तक पहुंचेगा। इसे बनाने में 22 हजार 500 करोड़ रुपये का खर्चा आया है। ये एक्सप्रेस-वे 9 जिलों लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से होकर निकलेगा। 9 जिलों को जोड़ने वाले इस एक्सप्रेस-वे से गाजीपुर से दिल्ली पहुंचने में महज 10 घंटे लगेंगे, साथ ही राजधानी से पूर्वांचल के आखिरी छोर तक सीधी कनेक्टिविटी हो जाएगी। इसके अलावा यूपी के साथ बिहार का भी रास्ता आसान होगा। प्रदेश की राजधानी से तो सीधा जुड़ाव होगा ही, वहीं आगरा-लखनऊ और यमुना एक्सप्रेस-वे से दिल्ली पहुंचना भी बहुत आसान हो जाएगा। यह एक्सप्रेस-वे न सिर्फ उद्योग धंधों का मार्ग प्रशस्त करेगा, बल्कि स्थानीय लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार भी उपलब्ध कराएगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे लखनऊ-सुल्तानपुर रोड पर स्थित ग्राम चांद सराय (लखनऊ) से शुरू होकर यूपी-बिहार सीमा से 18 किमी पूर्व राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-31 पर स्थित ग्राम हैदरिया पर खत्म होगा। वर्तमान में एक्सप्रेस-वे छह लेन चैड़ा है। एक्सप्रेस-वे के एक ओर 3.75 मीटर चैड़ी सर्विस लेन भी बनाई गई है।सजीव प्रसारण के दौरान परियोजना निदेशक भोलानाथ चौरसिया, बंदोबस्त अधिकारी चकबन्दी अनिल पाण्डेय, अपर जिला सूचना अधिकारी सुश्री आरती वर्मा, ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर धर्मेन्द्र उपाध्याय सहित सम्बन्धित विभागीय अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।