प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) का गृह प्रवेश कार्यक्रम संपन्न

जनपद में कुल 610 लाभार्थियों को मिला आवास

 | 
प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) का गृह प्रवेश कार्यक्रम संपन्न

आवास की चाबियां पाकर खिल उठे लाभार्थियों के चेहरे

अवधनामा संवाददाता  (अजय श्रीवास्तव)

ललितपुर (Lalitpur)। प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) एवं मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अंतर्गत 5.51 लाख लाभार्थियों का गृह प्रवेश/चाभी वितरण कार्यक्रम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कर-कमलों द्वारा लखनऊ में सम्पन्न हुआ। उक्त कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) एवं मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अंतर्गत 6637.72 करोड़ की लागत से निर्मित आवासों के 5.51 लाख लाभार्थियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चाभी का वितरण किया गया तथा विभिन्न जनपदों के लाभार्थियों से वर्चुअल संवाद स्थापित कर उन्हें शुभकामनाएं एवं बधाई दी। उक्त कार्यक्रम का का सजीव प्रसारण जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार की अध्यक्षता में एनआईसी कक्ष में दिखाया गया। प्रदेश स्तर पर 5.51 लाख आवास योजना के लाभार्थियों के गृह प्रवेश एवं चाभी वितरण के सापेक्ष जनपद में उक्त दोनों योजनाओं के कुल 610 लाभार्थियों को चाबी वितरित किया गयाजिनमें से 10 लाभार्थियों को जिलाधिकारी द्वारा एनआईसी हॉल में चाभी का वितरण किया गया। इस अवसर पर उक्त योजना के लाभार्थियों के भाव/अनुभवों के फीडबैक पर आधारित शॉर्ट फिल्म का भी प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम में मंत्रीग्राम्य विकास एवं समग्र ग्राम विकास ने कहा कि विगत चार वर्षों में सरकार ने 42 लाख आवासों के निर्माण का लक्ष्य पूर्ण किया है। मुख्यमंत्री के द्वारा प्रदेश के 5.51 लाभार्थियों को आवासों की चाभी का वितरण किया जाएगा। इस उत्कृष्ट कार्य का श्रेय मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व एवं दिशा-निर्देशन को है। इस कार्य की पूर्ति में ग्राम्य विकास विभाग द्वारा दिन-रात परिश्रम किया गया है। मुख्यमंत्री के प्रयासों से मुख्यमंत्री आवास योजना इस प्रदेश को प्राप्त हुई है। उन्होंने मुख्यमंत्री को सम्बोधित करते हुए कहा कि आपके आर्शीवाद से प्रदेश में मुख्यमंत्री आवास योजना एवं प्रधानमंत्री आवास योजना से गरीब व असहाय व्यक्तियों की सेवा हो रही हैयह अभूतपूर्व है। इसके उपरान्त मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लाभार्थियों से संवाद स्थापित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री का सपना है कि हर गरीब का स्वयं का आवास हो। उनका सपना उत्तर प्रदेश में साकार होता नजर आ रहा है। विगत चार वर्षों में लगभग 42 लाख आवास गरीबों को उपलब्ध कराये गए हैं। आज 05 लाख लोगों को आवास योजना का लाभ मिलता एक अच्छी सरकार का आभास हैं मुझे प्रसन्ता है कि ज्यादातर लोगों को सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि लखीमपुरखीरी में क्लस्टर के आधार पर कॉलोनी बनाकर आवास की व्यवस्था की गई हैइसके लिए वहां के लाभार्थियों को बहुत-बहुत बधाई। उन्होंने कहा कि टोक्यो ओलम्पिक एवं पैरा ओलम्पिक में भारत के खिलाडिय़ों के द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन किया गया है। ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में मॉर्डन संकल्पना का मॉडल स्थापित करने का प्रयास किया जा रहा है। हमारा गांव आत्मनिर्भव व स्वावलंबी हो सकेइसके लिए हम सभी को एकजुट होकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कुपोषित बच्चोंगर्भवती महिलाओं एवं किशोरियों को स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से पोषाहार का वितरण किया जा रहा हैयह महिला सशक्तिकरण का एक उदाहरण है। कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने लाभार्थियों को बताया कि वर्तमान केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा सिर्फ आवास ही निर्मित नहीं कराए जा रहे बल्कि आवास के साथ-साथ गरीब व जरूरतमंद लोगों को बिजली वा उज्ज्वला योजना के द्वारा गैस कनेक्शन ,पेयजलशौचालय व रोजगार और आयुष्मान भारत कार्ड दिए जाते हैं। इस तरह यह सिर्फ मकान नहीं अपितु संपूर्ण घर की संकल्पना है। उन्होंने कहा कि 70 प्रतिशत से अधिक आवास महिलाओं के नाम हैंइससे उनमें स्वामित्व की भावना जगी है तथा उनका सशक्तिकरण हुआ है। उन्होंने लाभार्थियों से कहा कि अन्य जरूरतमंद लोगों को केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा उनके उत्थान हेतु चलाई जा रही विभिन्न लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ लेने हेतु प्रोत्साहित करें। कहा कि वर्तमान केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा गरीब जरूरतमंद लोगों को बिना भेदभाव के विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित कर उन्हें विकास की मुख्यधारा से जोड़ा जा रहा है तथा आज प्रत्येक गरीब व्यक्ति को योजनाओं का लाभ सहजता से प्राप्त हो रहा है।