हमीरपुर में मौरंग खनन मे हो रही है राजस्व की भारी चोरी

नदी का पानी रोक कर किया जा रहे खनन। 

​​​​​​​
 | 
हमीरपुर में मौरंग खनन मे हो रही है राजस्व की भारी चोरी  

अवधनामा संवाददाता (हिफजुर्रहमान) 


हमीरपुर: जनपद हमीरपुर में  इन दिनों लगातार ओवरलोड ट्रको की निकासी बता रही है कि हमीरपुर मे खनन माफियाओ के हौंसले कितने बुलंद हैं , और खनिज विभाग की चुप्पी भी इसी ओर इंगित करती है ।

रात दिन मौरंग खदानों में प्रतिबंधित मशीनों से खनन किए जाने से नदी का स्वरूप भी बिगड़ रहा  है। एनजीटी के निर्देशों को ताक पर रखकर तमाम मौरंग कारोबारी नदी की जलधारा रोककर खनन कर रहे हैं।

जनपद मे इन दिनों लगभग

वर्तमान मे कुल बीस खदाने संचालित हैं और लगभग पांच सौ गाडियां प्रतिदिन मौरंग का परिवहन करती हैं जिससे करोड़ों का राजस्व प्राप्त होता है परंतु अप्रैल से दिसंबर तक कुल 53 % राजस्व ही प्राप्त हुआ है जो यह बताने के लिये पर्याप्त है कि लगभग 47 % राजस्व का घाटा विगत नौ माह में ही हुआ है। अप्रैल से दिसम्बर माह तक 1 अरब 58 करोड़ का ही राजस्व प्राप्त हुआ है जब कि यह और भी अधिक होना चाहिए था लेकिन खनिज विभाग की मिली भगत से सरकार को लग रहा है चूना। 

जबकि खदानो से ओवरलोड ट्रको की निकासी बता रही है कि कैसै राजस्व की चोरी की जा रही है वहीं खनिज विभाग उदासीन बना हुआ है ।

ऐसा नही है कि खनिज विभाग को जानकारी नही है , विभागीय उदासीनता भी कुछ ऐसा ही बताती है जहां एक ओर जिलाधिकारी के प्रयास से कभी कभी खदानों का निरीक्षण हो जाया करता था अब वहीं शांति से बेरोक टोक गाडियों पर ओवर लोडिंग का खेल चालू है ।

सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सभी खदानों मे पी टी जेड कैमरे भी लगा दिये परंतु ओवरलोडिंग का खेल लगातार चालू है और कैमरे सिर्फ शोपीस बन कर रह गये ।