श्रीमदभागवत कथा श्रवण से मिलती है मन को शांति- पं० घनश्यामानन्द

 | 
 श्रीमदभागवत कथा श्रवण से मिलती है मन को शांति- पं० घनश्यामानन्द

अवधनामा संवाददाता 

भाटपार रानी,देवरिया।  भाटपार रानी तहसील क्षेत्र के भजन छापर गांव में बुधवार को सात दिवसीय श्रीमदभागवत महापुराण कथा प्रेम यज्ञ  का शुभारंभ हुआ।प्रवचन करते हुए पंडित घनश्यामानन्द ओझा ने कहा कि श्रीमदभागवत महापुराण सभी शास्त्रों का सार है।यह वेदव्यास जी की अंतिम रचना है।उन्होंने कहा कि श्रीमदभागवत कथा श्रवण से मानव  मन को शांति मिलती है।इससे मनुष्य भौतिकता से आध्यात्मिकता की ओर अग्रसर होता है।यह कथा सुनने से मनुष्य के सारे पाप नष्ट होते हैं।मनुष्य के अंदर नैतिक गुणों का विकास होता है।मनुष्य के अंदर व्याप्त लोभ,लालच,ईर्ष्या, द्वेष, अनैतिकता जैसे अवगुणों का नाश होता है।इसलिए हमें निर्मल मन से कथा का श्रवण करना चाहिए।यहां मुख्य रूप से संयोजक ओमप्रकाश गुप्ता,गणेश गुप्ता,फुलपति देवी,सोनेलाल गुप्ता,मदन यादव,अनिल सिंह, शत्रुध्न मिश्र,सुरेश मिश्र,अशोक गुप्ता, सतीश गुप्ता, दीनानाथ गुप्ता, डॉ मनोज गुप्ता आदि मौजूद रहे।