चेहल्लुम का पर्व मनाये जाने को लेकर जारी हुई गाइडलाइन

 | 
चेहल्लुम का पर्व मनाये जाने को लेकर जारी हुई गाइडलाइन

अवधनामा संवाददाता

आजमगढ़। जिला मजिस्ट्रेट राजेश कुमार ने बताया कि गृह विभाग उत्तर प्रदेश शासन द्वारा इस वर्ष चेहल्लुम का पर्व मनाये जाने हेतु विस्तृत दिशा निर्देश निर्गत किये गये हैं। इस वर्ष चेहल्लुम का पर्व चन्द्र दर्शन के अनुसार दिनांक 28 सितम्बर 2021 को मनाया जाना सम्भावित है। चेहल्लुम हजरत इमाम हुसैन की शहादत के चालीसवें दिन अर्थात इस्लामिक माह सफर की 20वीं तारीख को शोक के रूप में मनाया जाता है। उक्त के दृष्टिगत में कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत शासन द्वारा जारी गाइडलाइन्स का उल्लंघन किसी भी दशा में न होने पाये। कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव हेतु कार्यक्रम के आयोजक की यह जिम्मेदारी होगी कि कोविड प्रोटोकाल की उद्घोषणा एवं लाउडस्पीकर के माध्यम से मास्क धारण करने तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने हेतु जनमानस को जागरूक करें। 
जिला मजिस्ट्रेट ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया है कि आगामी अवधि में कानून-व्यवस्था एवं साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखने हेतु तथा कोविड-19 महामारी के प्रभाव को कम करने के लिए प्रदत्त शासकीय निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाये। चेहल्लुम के अवसर पर कोविड-19 महामारी के रोकथाम हेतु दिये गये निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय। जनपद के कुछ स्थान साम्प्रदायिक दृष्टि से अत्यंत संवेदनशील हैं। ऐसे स्थानों को चिन्हित कर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की तैनाती की जाए। किसी भी धार्मिक स्थल क्षमता से अधिक लोगो की भीड़ एकत्र न होने पाए यह सुनिश्चित किया जाए। त्योहारों पर सार्वजनिक स्थल यथा बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और संवेदनशील स्थान/धार्मिक स्थल पर यथावश्यक व्यवस्थायें/चेकिंग कराई जाए। जन सुविधाएं यथा बिजली, पेयजल एवं साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। आकस्मिकता के दृष्टिगत सभी सरकारी अस्पतालों को तैयार हालत में रखा जाए एवं डाक्टर तथा पैरा-मेडिकल स्टॉफ की ड्यूटी राउण्ड द क्लाक लगायी जाए। असामाजिक तत्वों एवं अफवाह फैलाने वालों पर विशेष ध्यान दिया जाए। सोशल मीडिया की राउण्ड द क्लाक मॉनिटरिंग की जाए एवं कोई भी आपत्तिजनक पोस्ट संज्ञान में आते ही तत्काल ब्लाक करते हुए प्रभावी कार्यवाही की जाए। जनपद के संवेदनशील क्षेत्रों व अन्य स्थानों पर भी मोबाइल पेट्रोलिंग करायी जाये, जिससे कोई अप्रिय घटना न घटित होने पाये। पुलिस अधीक्षक, आजमगढ़ समस्त पुलिस अधिकारीयों/ कर्मचारियों तथा अभिसूचना कर्मियों की ब्रीफिंग कर उपरोक्त दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने हेतु निर्देशित करें। 
उन्होने कहा कि सभी अधिकारी इस त्योहार पर अपने दायित्वों का निर्वहन पूर्ण निष्ठा के साथ करेगें और शान्ति बनाये रखने के लिए सतत् प्रयत्नशील रहेगें। यदि जनपद मे कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि परिलक्षित होती है तो यथास्थिति तत्समय निर्णय में परिवर्तन भी किया जा सकता है।