बाढ़ राहत में पल्टी नाव ग्रामिणों ने कुद कर बचाया जान

 समाजवादी पार्टी के भावी विधायक प्रत्याशी मानीराम में बाट रहे थे बाढ़ राहत पैकेट

 | 
बाढ़ राहत में पल्टी नाव ग्रामिणों ने कुद कर बचाया जान

 ग्रामीणों की बहादुरी पर देवेन्द्र भूषण निषाद ने माना भगवान

अवधनामा संवाददाता 

गोरखपुर (Gorakhpur)। बाढ की चपेट में कई गांव के लोग परेशानियों का सामना कर रहे है। पिपराइच विधान सभा क्षेत्र के मानीराम स्थित बनरहा गांव में समाजवादी पार्टी के भावी विधायक प्रत्याशी देवेन्द्र भूषण निषाद नाव पहंुच कर राहत पैकेट देते हुए लोगों की परेशानियों के बारे में पुछते हुए गांव से निकले तो गांव से कुछ दूरी पर अचानक नाव अनियंत्रित हो कर पलट गई । गांव के लोग नाव पलटते देख पुरूष व महिला युवा पानी में कुद कर किसी तरह बाहर निकाला। पानी से बाहर निकलते ही  सभी ने राहत की सांस ली । सभी के  आंखो में आंसू दिखाई दे रहा था कि अगर गांव के लोग नहीं होते तो हम लोगों की जान चली गई होती । ग्रामीणों ने सभी लोगों को परेशानी पुछते हुए सभी को चाय काढा पिलाया। भावी विधायक प्रत्याशी देवेन्द्र भूषण निषाद हक बक हो गए थे लोगों कुछ बताने में असर्मथ थे लेकिन कुछ मिनटों बाद कहा कि आप सभी ग्रामीण हम लोगों के लिए भगवान है नहीं आप लोग आते तो हम लोग की जान चली गई होती । आज छ घरों में कोहराम मच गया होता। आप सभी का जिन्दगी भर एसान मंद रहुगा आप लोगों को कोई भी दिक्कत आये तो एक बार हमारे फोन से बात करना हम पूरा करने का प्रयास करूगा । नाव में सवार अजय सोनकर ने बताया कि बनरहा गांव में राहत पैकेट बाट कर जैसे ही गांव को छोडा तो नाव पलट गई हम लोगों को कुछ नहीं पता चला बचने का कोई उपाय नहीं था लेकिन गांव के लोगों ने पानी में कुद कर सभी को बचा लिए नहीं तो आज हम लोग के  बच्चे अनाथ हो जाते। आज गांव के लोग के लोग भगवान है ।