महाप्रबंधक/उत्तर मध्य रेलवे ने साप्ताहिक संरक्षा एवं समयपालन बैठक की

 | 
महाप्रबंधक/उत्तर मध्य रेलवे ने साप्ताहिक संरक्षा एवं समयपालन बैठक की

अवधनामा संवाददाता 


प्रयागराज :  उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय में संरक्षा एवं समयपालन समीक्षा बैठक आयोजित हुई। बैठक में उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक वीडियो लिंक के माध्यम से बिलासपुर से शामिल हुए, जबकि अपर महाप्रबंधक रंजन यादव ने उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय में बैठक की अध्यक्षता की। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आगरा, प्रयागराज और झांसी के मंडल रेल प्रबंधक  सहित मंडलों के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हुए।
बैठक को संबोधित करते हुए महाप्रबंधक ने 16 सितंबर, 2021 को कानपुर यार्ड में खाली कोचिंग रेक के अवपथन की घटना पर कड़ी चिंता व्यक्त की। उन्होंने आगे निर्देश दिया कि यातायात निरीक्षकों के माध्यम से तत्काल अभियान चलाया जाए और शंटिंग के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के संबंध में स्टाफ को काउंसल किया जाए। महाप्रबंधक ने डीएफसी मार्ग में भी अवपथन पर भी चिंता जताई और कहा कि इससे सबक सीखना चाहिए क्योंकि डीएफसी लाइन पर कोई भी दुर्घटना भारतीय रेल में परिचालन को प्रभावित होता है।
महाप्रबंधक ने ग्राहकों के लिए शिकायत निवारण तंत्र की चर्चा करते हुए रेल मदद पर शीघ्र निस्तारण के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि रेल मदद की शिकायतों को प्राथमिकता के आधार पर निपटाया जाना चाहिए और समय पर निपटान किया जाना चाहिए और यह भी सुनिश्चित किया जाए की किसी भी तरह की देरी नहीं हो।
प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबंधक  बिप्लव कुमार ने प्रयागराज मंडल में बार-बार ब्रेक जाम होने का मुद्दा उठाया, जिससे समय पालनता प्रभावित होती है।
अदालती मामलों की स्थिति की समीक्षा करते हुए, अपर महाप्रबंधक ने लंबित आर्बिट्रेशन मामलों पर गहरी चिंता व्यक्त की।  यादव ने कोर्ट के विभिन्न फैसलों को लागू करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने सभी प्रमुख विभागाध्यक्ष को उन मामलों को शीघ्रता से समाप्त करने का निर्देश दिया जहां एकमात्र आर्बिट्रेटर  हैं। अपर महाप्रबंधक ने निर्देश दिया कि इन मामलों का उचित विश्लेषण किया जाना चाहिए और उनके लिए सटीक कारणों का पता लगाया जाना चाहिए।
बैठक के दौरान अन्य संरक्षा और समयपालन संबंधी मुद्दों पर भी विस्तृत चर्चा की गई।